Tuesday , April 24 2018

अन्य देशों के मुकाबले भारत में दुष्कर्म पर दी जाती है कम सजा?

एकतरफ देश भर में हो रही रेप की वारदातों ने लोगों को झकझोर दिया है। वहीं दूसरी तरफ, इसी दौरान मानवाधिकार पर नजर रखने वाली संस्था एमनेस्टी इंटरनेशनल की रिपोर्ट से सामने आया है कि वर्ष 2017 में भारतीय अदालतों ने 43 ऐसे लोगों को मौत की सजा सुनाई, जो महिलाओं से जुड़े यौन अपराधों में दोषी पाए गए।

एमनेस्टी इंटरनेशनल की रिपोर्ट के अनुसार दुनिया में 2591 को मिली मौत की सजा। द डेथ सेंटेंसेज एंड एक्जीक्यूशंस 2017 के नाम से 53 देशों में किए आकलन के आधार पर आई इस रिपोर्ट में बताया गया है कि दुनिया में पिछले साल के मुकाबले फांसी पाने वालों की संख्या में करीब 4 प्रतिशत की कमी आई है। बता दें कि किसी अन्य देश के मुकाबले दुष्कर्म के मामलो में भारत ही ऐसा देश है जहां सबसे कम सजा दी जाती है।

109 अपराधियों को ही इस दौरान भारत में दी गई मौत की सजा। 51 को हत्या और 43 को महिलाओं से यौन हिंसा में मिला मृत्युदंड। 02 अपराधियों को पहली बार नशीली दवाओं से जुड़े अपराध में मौत की सजा।

136 अपराधियों को 2016 में मौत की सजा मिली थी भारत में। 87 अपराधी 2016 में हत्या के मामलों में मौत की सजा पाने वालों में थे। 371 अपराधी भारत में 2017 के अंत तक फांसी की सजा के बाद जेलों में बंद थे।

TOPPOPULARRECENT