Wednesday , December 13 2017

अपनी ही पार्टी के लोगों से डर रहे मोदी

जदयू तर्जुमान और एसेम्बली पार्षद संजय सिंह ने कहा कि सुशील मोदी इन दिनों अपनी ही पार्टी के लोगों से डर रहे हैं और अब अपनी मार्केटिंग में पूरी तरह से जुट गये हैं। उन्होंने कहा कि मोदी ने अपनी ब्रांडिंग के लिए 16 मुलाज़िमीन की टीम लगा र

जदयू तर्जुमान और एसेम्बली पार्षद संजय सिंह ने कहा कि सुशील मोदी इन दिनों अपनी ही पार्टी के लोगों से डर रहे हैं और अब अपनी मार्केटिंग में पूरी तरह से जुट गये हैं। उन्होंने कहा कि मोदी ने अपनी ब्रांडिंग के लिए 16 मुलाज़िमीन की टीम लगा रखी है। वह सियासत करने में भी माहिर हैं। उन्होंने शाहनवाज हुसैन को बिहार की सियासत से अलग कर दिया, ताकि उनकी कुरसी बची रहे। गिरिराज सिंह, भोला सिंह, चंद्रमोहन राय, सीपी ठाकुर, प्रेम कुमार, अश्विनी चौबे जैसे लीडरों को इसलिए अक्सर परेशान करते हैं, क्योंकि सबसे ज़्यादा इन्हीं से खतरा है।

मिस्टर सिंह ने कहा कि मोदी यह जानते हुए कि दवा घोटाले में नीतीश कुमार की कोई किरदार नहीं है और जिनकी किरदार थी उन पर हुकूमत ने कार्रवाई की है, इल्ज़ाम लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि दवा घोटाले में जो भी जांच हुई है, वह मुंसिफ़ाना हुई है। इसमें किसी को भी बचाने की कोशिश नहीं किया गया है. उन्होंने कहा कि सुशील मोदी हर बात में सीबीआइ जांच की मांग करते हैं। लेकिन, जब वह हुकूमत में फायनेंस वज़ीर थे, तब एसी-डीसी बिल के मामले में अब के रामविलास पासवान ने ही सीबीआइ जांच की मांग की थी। उस वक़्त उनकी एख्लाफियात कहां गयी थी। मोदी जुर्म और बदउनवान की बात करते हैं। उनकी पार्टी भाजपा में मुजरिमों की फेहरिस्त इतनी लंबी है कि नाम गिनाने बैठें, तो सुबह से शाम हो जाये। नीतीश कुमार के सख्शियत में इतनी तेज़ी है कि उनके सामने सब बौने नजर आते हैं।

असली बात यह है कि मोदी बिहार की अवाम को मेन मुद्दे से भटका रहे हैं, ठग रहे हैं। इसका जवाब एसेम्बली इंतिख़ाब में अवाम देगी और उन्हें हार का मजा चखायेगी।

TOPPOPULARRECENT