Saturday , December 16 2017

अप्पोज़ीशन का आमिराना तर्ज़ अमल

रीटेल शोबे में एफडी आई पर रियास्तों को अमल आवरी से रोकने का अप्पोज़ीशन पर इल्ज़ाम लगते हुए मर्कज़ी वज़ीर कोयला श्री प्रकाश जयसवाल ने कहा कि इस तरह का तर्ज़ अमल आमिराना है ।

रीटेल शोबे में एफडी आई पर रियास्तों को अमल आवरी से रोकने का अप्पोज़ीशन पर इल्ज़ाम लगते हुए मर्कज़ी वज़ीर कोयला श्री प्रकाश जयसवाल ने कहा कि इस तरह का तर्ज़ अमल आमिराना है ।

उन्हों ने चार दिन तक पार्लीमैंट की कार्रवाई को मुअत्तल रखने का हवाला देते हुए कहा कि इस से अप्पोज़ीशन के दिवाना पन का सबूत मिलता है ।

उन्हों ने कहा कि अप्पोज़ीशन जमातें आमिराना तर्ज़ अमल इख़तियार करते हुए रियास्तों को रीटेल शोबे में एफडी आई पर अमल आवरी से रोक रही हैं जबके ये रियास्तें इस पर अमल की ख़ाहां हैं ।

उन्हों ने कहा कि अप्पोज़ीशन ने पिछ्ले सेशन में मुबय्यना कोयला बलॉक तख़सीस स्क़ाम पर ड्रामा रचते हुए पार्लीमैंट का क़ीमती वक़्त ज़ाए किया हालाँकि अब तक भी इस स्क़ाम के बारे में कोई ठोस मवाद नहीं मिल सका ।

रीटेल शोबे में एफडी आई की मुख़ालिफ़त करते हुए भी जारीया सेशन के दौरान अप्पोज़ीशन ने यही तर्ज़ अमल इख़तियार किया । उन्हों ने कहा कि एफडी आई पर अमल आवरी की रियास्तों को आज़ादी देने के बाद आख़िर मर्कज़ से इस मुआमले में क्या मसला दर पेश हैं ?

उन्हों ने कहा कि जो इस पर अमल करना चाहते हैं करसकते हैं और जो नहीं चाहते उन पर कोई ज़बरदस्त नहीं । श्री प्रकाश जयसवाल ने कहा कि अप्पोज़ीशन के तर्ज़ ए अमल से साफ़ ज़ाहिर है कि उन के पास पार्लीमैंट में उठाने केलिए ठोस मौज़ूआत नहीं , इस से उन की दीवालीया पन का सबूत मिलता है ।

पार्लीमैंट के सरमाई सेशन के इबतिदाई चार दिन एफडी आई मसले की नज़र होगए क्योंके अप्पोज़ीशन जमातों का इसरार था कि इस मौज़ू पर एसे क़ायदा के तहत बाहेस किए जाएं जिन पर राय दही ज़रूरी होती है ।

हुकूमत ने आख़िर कार अप्पोज़ीशन के मुतालिबा को तस्लीम करलिया जिस के बाद ही ऐवान की कार्रवाई बहाल होसकी ।

TOPPOPULARRECENT