Tuesday , June 19 2018

अफजल की लाश की मांग पर अड़े घर वाले, कब्र तैयार

श्रीनगर, 13 फरवरी: पार्लियामेंट पर हमले के गुनाहगार अफजल गुरु को फांसी देने के बाद से उसके घरवाले अभी भी लाश हासिल करने की मांग पर अड़े हुए हैं। ईदगाह में लाश को दफनाने के लिए कब्र भी तैयार कर ली गई है। उनका कहना है कि हमें हुकूमत से ल

श्रीनगर, 13 फरवरी: पार्लियामेंट पर हमले के गुनाहगार अफजल गुरु को फांसी देने के बाद से उसके घरवाले अभी भी लाश हासिल करने की मांग पर अड़े हुए हैं। ईदगाह में लाश को दफनाने के लिए कब्र भी तैयार कर ली गई है। उनका कहना है कि हमें हुकूमत से लाश के अलावा कुछ भी नहीं चाहिए। अफजल की बीवी और दो भाइयों ने मंगल के दिन बारामुला के डीसी के ज़रिये हुकूमत को एक खत भेजा है। खानदान वालो ने इस मामले में सयासी न करने की भी अपील की है।

बारामुला जिले के कमीश्नर जी ए ख्वाजा के मुताबिक अफजल गुरु की बीवी तबस्सुम और दो भाइयों एजाज व यासीन की ओर से अफजल गुरु की लाश हासिल करने के लिए उनको एक खत मिला है। उन्होंने यह खत आगे की कार्यवाही के लिए आला आफीसरों को सौंप दिया है।

इस बीच श्रीनगर के करीब ईदगाह इलाके में अफजल गुरु की कब्र तैयार की गई है। इसी जगह साल 1984 में फांसी पर लटकाए गए जेकेएलएफ के बानी मकबूल भट और गुजश्ता दो दहों के दौरान दहशतगर्द तशद्दुद में मारे जा चुके कई दूसरे लोगों की कब्रें भी हैं।

मोहम्मद यासीन गुरु के मुताबिक , हुकूमत से हमे हमदर्दी नहीं, बल्कि अफजल गुरु की लाश चाहिए, ताकि हम अपने मजहब के मुताबिक सोपोर में वाकेय् आबाई कब्रिस्तान में उनकी लाश को सुपुर्द-ए-खाक कर सकें।

खानदान वाले वज़ीर ए दाखिला के सुझाव को पहले ही ठुकरा चुके हैं, वज़ीर ए दाखिला ने पिछले दिनों सुझाव दिया था कि घर वालो को फातिहा पढ़ने के लिए दिल्ली आने के लिए तैय्यारा का इंतेज़ाम करा दिया जाएगा। |

लेकिन घर वालो का कहना था कि अगर हमें दिल्ली जाना ही पड़ा तो हम इसका इंतेज़ाम अपने सतह पर कर लेंगे। इसके लिए हुकूमत की हमदर्दी की जरूरत नही हैं।

घर वालों ने हफ्ते को अफजल गुरु को दी गई फांसी के बाद इत्तेला करने के लिए तिहाड़ जेल के आफीसरों के तरफ से भेजे गए खत को ज़ख्म पर नमक छिड़कने जैसा करार दिया।

TOPPOPULARRECENT