Friday , December 15 2017

अफजल गुरु को शहीद बताने का किया मुखालिफत

औरंगाबाद (सदर) : अफजल गुरु को शहीद बताने व सरस्वती की मूर्ति से छेड़छाड़ किये जाने के मुखालिफत में आल इंडिया स्टूडेंट्स यूनियन के कार्कुनान ने जवाहरलाल नेहरू जेएनयू, दिल्ली के चांसलर का पुतला फूंका। इससे पहले स्टूडेंट्स कौंसिल के कार्कुनान ने शहर में जुलूस निकाला।

स्टूडेंट्स कौंसिल के मेम्बरों ने कहा कि जेएनयू में गुजिश्ता नौ फरवरी की शाम मुनाक्किद कल्चरल प्रोग्राम की शाम कुछ लोगों की तरफ से मुल्क की यक्जाहिता के खिलाफ नारे लगाये गये और अफजल गुरु को शहीद बताया गया, जो मुल्क के लोगों के लिए शर्म की बात है। सरस्वती की मूर्ति से छेड़छाड़ करनेवाले मज़हब के मुखालिफ हैं, जिसे बरदाश्त नहीं किया जायेगा।

स्टूडेंट्स कौंसिल के रियासती वजीर दीपक कुमार ने कहा कि जेएनयू में कुछ दनिश्वर्मंद की तरफ से अफजल गुरु को शहीद बता कर हनमनथप्पा जैसे शहीदों को तौहीन किया गया है।

कल्चरल की शाम का इन्काद करनेवाले स्टूडेंट्स तंज़ीम आइसा, एसएफआइ और एआइएसएफ ने यह साबित कर दिया कि ये मुल्क के गद्दार तंज़ीम हैं। जिला कन्वेनर राहुल कुमार ने कहा कि पहले भी जेएनयू, टीआइएसएस, हैदराबाद मर्क़ज़ी यूनिवार्सिटी जैसे अदारों में कभी अफजल गुरु, तो कभी याकूब मेमन के हिमायत में इस किस्म की सरगर्मियों का इन्काद किया जा चुका है।
इस किस्म के प्रोग्राम पर पूरी तरह रोक लगनी चाहिए। इस मौके पर शशि कुमार, अमरेंद्र कुमार, राजेश, मिथुन, दिनेश, अभिषेक, सतीश, हिमांशु, विक्की, सूरज, छोटू, सौरभ, परमजीत व सुमित वगैरह मौजूद थे।

TOPPOPULARRECENT