Wednesday , December 13 2017

अफसरों को कमरे में बंद करके पीटो

कटेहरी , 14 अप्रैल: उत्तरप्रदेश के मंत्री बड़बोलेपन से बाज नहीं आ रहे हैं। हफ्ते के दिन वज़ीर ए सेहत शंखलाल मांझी ने कहा कि अफसर अगर बात नहीं सुनते हैं तो उन्हें कमरे में बंद कर पीटो। बाद में जो होगा, देख लेंगे।

कटेहरी , 14 अप्रैल: उत्तरप्रदेश के मंत्री बड़बोलेपन से बाज नहीं आ रहे हैं। हफ्ते के दिन वज़ीर ए सेहत शंखलाल मांझी ने कहा कि अफसर अगर बात नहीं सुनते हैं तो उन्हें कमरे में बंद कर पीटो। बाद में जो होगा, देख लेंगे।

समाजवादी पार्टी कारकुनो को यह सीख मंत्री ने कटेहरी में मुनाकिद जलसे में दी है। हालांकि बाद में मांझी अपने बयान से पलट गए और कहा कि उन्होंने सिर्फ जद्दू जहद करने की बात कही है। इससे पहले भी रियासती हुकूमत के कई वज़ीर बेतुका बयान दे चुके हैं।

इजलास में वज़ीर के पहुंचते ही कारकुनो ने अपनी उलाहना की झड़ी लगा दी। कारकुनो की शिकायतों से वज़ीर झल्ला गए।

उन्होंने कारकुनो से कहा कि अफसर की पहले बंद कमरे में पिटाई कर दो। । बाद में उन्होंने जोर देकर कहा कि पिटाई कर आना, जो होगा देख लिया जाएगा।

मंत्री के इस तेवर ने कारकुनो का गुस्सा तो शांत कर दिया लेकिन इससे रियासती हुकूमत के बेहतरीन हुकूमत के दावों की पोल खुलती नजर आई। हालांकि बाद में वह बयान से पलट गए।

वज़ीर ने कहा कि उन्होंने पिटाई की कोई बात नहीं की है। सिर्फ कारकुनों से यह कहा कि अगर कोई अफसर उनकी बात नहीं सुनता है तो आठ से दस की तादाद में जाओ और जद्द ओ जहद करो। और अगर जेल जाने की नौबत आई तो हम छुड़ा लेंगे।

TOPPOPULARRECENT