Wednesday , January 17 2018

अफ़्ग़ानिस्तान की गोशानशीं ख़ातूने अव्वल, ज़ीनत करज़ई

काबुल 9 मार्च (एजेंसीज़) ज़ीनत करज़ई को अफ़्ग़ानिस्तान की गोशानशीं ख़ातून अव्वल कहा जाता है। अफ़्ग़ानिस्तान के सदर हामिद करज़ई की 43 साला अहलिया ज़ीनत को अवामी सतह पर बहुत कम देखा गया है और इसी लिए उन पर तन्क़ीद की जाती है कि वो मुल

काबुल 9 मार्च (एजेंसीज़) ज़ीनत करज़ई को अफ़्ग़ानिस्तान की गोशानशीं ख़ातून अव्वल कहा जाता है। अफ़्ग़ानिस्तान के सदर हामिद करज़ई की 43 साला अहलिया ज़ीनत को अवामी सतह पर बहुत कम देखा गया है और इसी लिए उन पर तन्क़ीद की जाती है कि वो मुल्क में ख़वातीन के हुक़ूक़ के लिए कोशिशें नहीं कर रहीं।

ज़ीनत करज़ई ने इस हफ़्ते बी बी सी की मर्यम ग़मगुसार और फ़रीबा ज़ाहिर को इंटरव्यू दिया। अफ़्ग़ान ख़ातून अव्वल सख़्त सेक्यूरिटी में सदारती महल में रिहायश पज़ीर हैं।

सदारती महल में दाख़िल होने के लिए पाँच निहायत सख़्त सेक्यूरिटी चेक पोस्टों से गुज़र कर अपार्टमेंट में दाख़िल हुए जहां ख़ातून अव्वल अफ़्ग़ान सदर और अपने दो बच्चों के हमराह रहती हैं।

नाक़िदीन का कहना है कि ये बात और भी ज़्यादा इस लिए भी अह़म है कि वो क्वालिफाइड डाक्टर हैं, जिन्हों ने शादी से कब्ल कुछ अर्सा पाकिस्तान में काम भी किया है।

लेकिन ज़ीनत करज़ई कहती हैं में जानती हूँ कि मेरी शराकत मीडिया पर नज़र नहीं आती। लेकिन अफ़्ग़ानिस्तान के मौजूदा हालात के पेशे नज़र जो मुझ से हो सकता था वो मैंने किया है।

TOPPOPULARRECENT