अफ्रीकी देश जिम्‍बॉब्‍वे, मालावी और मोजांबिक में तूफ़ान का कहर, हजारों लापता

अफ्रीकी देश जिम्‍बॉब्‍वे, मालावी और मोजांबिक में तूफ़ान का कहर, हजारों लापता

मापुतो। अफ्रीका के देश जिम्‍बॉब्‍वे, मालावी और मोजांबिक इस समय खतरनाक तूफान ईडाई का सामना करने को मजबूर है। एक रिपोर्ट के मुताबिक इस तूफान की वजह से हजारों लोगों के मारे जाने की आशंका है। अकेले जिम्‍बॉब्‍वे में तूफान की वजह से सैंकड़ों लोगों के मारे जाने और कई लोगों के लापता होने की खबरें हैं। सड़कों से संपर्क खत्‍म हो गया है, खासतौर पर गांवों और पिछड़े इलाकों में हालात सबसे ज्‍यादा खराब हैं। इन जगहों पर सड़कें खत्‍म हो गई हैं और टेलीफोन लाइन भी कट गई हैं।

यूनाइटेड नेशंस (यूएन) के मुताबिक इडाई से तीनों अफ्रीकी देशों में 15 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं। मोजाम्बिक का केन्द्रीय बंदरगाह शहर बेइरा सबसे अधिक प्रभावित हुआ है जहां हवाई अड्डा बंद है, बिजली सप्‍लाई भी ठप्प है और कई घर नष्ट हो गये हैं। बेइरा में पिछले गुरुवार को साइक्‍लोन पहुंचा था और फिर यहां से जिम्बाब्वे और मलावी के पश्चिम की ओर बढ़ा। इसके कारण विशेषकर सीमावर्ती मोजाम्बिक के पूर्वी इलाकों में हजारों लोग प्रभावित हुए हैं। मोजाम्बिक में कम से कम 48 लोगों और जिम्बाब्वे में 39 लोगों के मारे जाने की खबरें हैं। दोनों पड़ोसी देशों में चक्रवात के दौरान तेज हवा, भारी बारिश और बाढ़ के कारण कई पुल नष्ट हो गये और घर पानी में बह गये। चक्रवात के बाद दर्जनों अन्य लोग लापता हैं। मोजांबिक के सरकारी अखबार जोर्नल डोमिंगो ने चक्रवात से बुरी तरह प्रभावित मध्य सोफाला प्रांत में अब तक 48 लोगों के मारे जाने की खबर दी है। यूएन ने कहा कि जिम्बाब्वे में 100 से अधिक लोग लापता हैं और 9,600 लोग प्रभावित हुये हैं।

Top Stories