Wednesday , September 26 2018

अबू ज़ुंदाल की दरख़ास्त ज़मानत मुस्तर्द एन आई ए को तवील मोहलत

नई दिल्ली, 08 जनवरी: ( पी टी आई ) लश्कर तैय्यबा के दहशतगर्द और मुंबई हमला केस के मुल्ज़िम की दरख़ास्त ज़मानत को दिल्ली हाइकोर्ट ने मुस्तर्द कर दिया है और क़ौमी तहक़ीक़ाती एजेंसी ( एन आई ए ) को इस केस में तहकीकात मुकम्मल करने के लिए 180 दिनों तक क

नई दिल्ली, 08 जनवरी: ( पी टी आई ) लश्कर तैय्यबा के दहशतगर्द और मुंबई हमला केस के मुल्ज़िम की दरख़ास्त ज़मानत को दिल्ली हाइकोर्ट ने मुस्तर्द कर दिया है और क़ौमी तहक़ीक़ाती एजेंसी ( एन आई ए ) को इस केस में तहकीकात मुकम्मल करने के लिए 180 दिनों तक का वक़्त दे दिया है ।

अबू जुंदाल को मुंबई हमलों की साज़िश करने के इल्ज़ाम में गिरफ़्तार किया गया था । ज़िला जज आई एस महित ने क़ौमी तहक़ीक़ाती एजेंसी की इस दरख़ास्त को कुबूल कर लिया कि उसे तहकीकात मुकम्मल करने के लिए 180 दिन तक का वक़्त दिया जाये ।

जज मौसूफ़ ने कहा कि अबू जुंदाल के क़बज़ा से जो अशिया बरामद हुई हैं वो हस्सास नवीत की हैं और ये मुआमला क़ौमी सलामती से ताल्लुक़ रखता है । जज मौसूफ़ ने कहा कि हक़ायक़ और हालात और ज़ब्त शूदा अशिया को देखते हुए जो मुबय्यना तौर पर मुल्ज़िम के क़बज़े से दस्तयाब हुई हैं वो अबू जुंदाल को मज़ीद 13 दिन की तहवील में देते हैं और अबू जुंदाल की दरख़ास्त ज़मानत को मुस्तर्द किया जाता है ।

समाअत के दौरान जुंदाल के वकील एम एस ख़ान ने ज़मानत की दरख़ास्त पेश की और कहा कि एन आई ए की जानिब से इस केस में चार्जशीट की पेशकशी में ताख़ीर की जा रही है।

TOPPOPULARRECENT