Monday , June 18 2018

अब आधार बायोमीट्रिक डेटा को कर सकेंगे लॉक

नई दिल्ली। हर इंसान आधार कार्ड बनवाते समय फिंगरप्रिंट और रेटिना स्कैन करवाकर अपनी पहचान साझा करते हैं, जिसे बायोमीट्रिक डेटा कहा जाता है। आधार कार्ड के वेरिफिकेशन के लिए बायोट्रिक डेटा का ही इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे भी कई मामले सामने आए हैं, जिसमें लोगों के आधार बायोमीट्रिक डेटा का गलत इस्तेमाल किया गया है।

हाल ही में ऐसे कई मामले ऐसे सामने आए हैं, जिनमें यूआईडीएआई से ईमेल आया है कि उनके आधार बायोमीट्रिक डेटा का इस्तेमाल किया गया है, जबकि लोगों का कहना था कि उन्होंने आधार बायोमीट्रिक डेटा को कोई इस्तेमाल नहीं किया है।

अगर आपको भी लगता है कि आपके साथ ऐसा कुछ हो सकता है या फिर एहतियात बरतना चाहते हैं तो आप यूआईडीएआई के सर्वर पर जाकर बायोमीट्रिक डेटा को लॉक कर सकते हैं। इसका मतलब यह हुआ कि आपके बायोमीट्रिक डेटा को किसी और द्वारा एक्सेस नहीं किया जा सकेगा। जब कभी आपको आधार डेटा का इस्तेमाल करना हो तो पहले आप उसे अनलॉक कर सकते हैं और फिर वेरिफिकेशन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद दोबारा लॉक कर सकते हैं।

TOPPOPULARRECENT