Friday , November 24 2017
Home / India / अब किसी और बंदी की रिहाई नहीं : मुफ्ती

अब किसी और बंदी की रिहाई नहीं : मुफ्ती

कश्मीर में अलहैदगीपसंद लीडर मसर्रत आलम की रिहाई से पीडीपी-भाजपा इत्तेहाद में तनाव आने और संसद में हंगामे के बाद मंगल के रोज़ जम्मू कश्मीर की हुकूमत ने कहा कि वह अब और सियासी बंदियों या इंतेहापसंदो को रिहा नहीं करेगी।

कश्मीर में अलहैदगीपसंद लीडर मसर्रत आलम की रिहाई से पीडीपी-भाजपा इत्तेहाद में तनाव आने और संसद में हंगामे के बाद मंगल के रोज़ जम्मू कश्मीर की हुकूमत ने कहा कि वह अब और सियासी बंदियों या इंतेहापसंदो को रिहा नहीं करेगी।

जब जम्मू कश्मीर के होम सेक्रेटरी सुरेश कुमार से पूछा गया कि क्या हुकूमत और भी इंतेहापसंदो और सियासी बंदियों की रिहाई जारी रखेगी तो उन्होंने कहा, इस तरह की कोई बात नहीं है। मसर्रत आलम के खिलाफ प्ब्लिक सेफ्टी एक्ट के तहत दोबारा कोई मामला नहीं बनता, इसलिए उसे रिहा किया गया। इसके अलावा और कुछ नहीं है।

आलम की रिहाई के फैसले का बचाव करते हुए होम सेक्रेटरी ने कहा कि, किसी को पीएसए के तहत हिरासत में रखने की हद होती है, आप उसे ज्यादा से ज्यादा छह महीने तक हिरासत में रख सकते हैं और एक बार और रख सकते हैं। उन्होंने कहा, सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मुताबिक आप किसी को एक ही इल्ज़ाम में बार बार हिरासत में नहीं रख सकते। अगर आपने ऐसा किया है तो उसके खिलाफ नये इल्ज़ाम होने चाहिए।

TOPPOPULARRECENT