Monday , December 18 2017

अब मग़रिबी किनारा में भी फ़लस्तीनीयों की हलाकत

इसराईली फ़ौज ने आज अलीउल सुबह मग़रिबी किनारा के देहात हस्सान में एक फ़लस्तीनी को झड़प के दौरान गोली मारकर हलाक कर दिया। फ़लस्तीनी फ़ौज के बामूजिब महमूद अल हमामरा (32 साल) को सीना पर गोली मार दी गई जबकि वो ईसराईलीयों पर संगबारी कर रहा था।

इसराईली फ़ौज ने आज अलीउल सुबह मग़रिबी किनारा के देहात हस्सान में एक फ़लस्तीनी को झड़प के दौरान गोली मारकर हलाक कर दिया। फ़लस्तीनी फ़ौज के बामूजिब महमूद अल हमामरा (32 साल) को सीना पर गोली मार दी गई जबकि वो ईसराईलीयों पर संगबारी कर रहा था।

इसराईली फ़ौज की जानिब से इस वाक़िया के बारे में फ़ौरी तौर पर कोई बयान हासिल नहीं किया जा सका। ये झड़प फ़लस्तीनी क़ियादत के रामल्ला में एक इजलास के फ़ौरी बाद हुई जबकि ग़ाज़ा के शहरीयों की ताईद में अवाम ने इज़हारे यकजहती के लिए एक जुलूस निकाला था।

जिनेवा से मौसूला इत्तिला के बामूजिब ग़ाज़ा पट्टी में इसराईली फ़ौज की कार्रवाई को जंगी जराइम के मुतरादिफ़ क़रार देते हुए अक़वामे मुत्तहिदा के इंसानी हुक़ूक़ शोबा के सरब्राह ने आज कहा कि फ़लस्तीनी अस्करीयत पसंदों (हम्मास) की जानिब से इसराईल पर अंधा धुंद राकेट हमले भी काबिले मुज़म्मत हैं। उन्हों ने कहा कि बैनुल अक़वामी क़ानून की ख़िलाफ़वर्ज़ी के शदीद इमकानात हैं।

उन्हों ने कहा कि इसराईली बच्चे और दीगर शहरीयों को भी हक़ ज़िंदगी हासिल है। जॉन कैरी क़ाहिरा में हैं और ग़ाज़ा तनाज़ा की जंग बंदी के ज़रीए यक्सूई की कोशिश कर रहे हैं। उन्हों ने कहा कि अमरीका, सूरते हाल की निगरानी कर रहा है और इस का तजज़िया भी कर रहा है। अनक़रीब चौबीस घंटे बाद ताज़ा तरीन सूरते हाल पर मबनी रहनुमायाना ख़ुतूत जारी कर दिए जाएंगे।

TOPPOPULARRECENT