Wednesday , December 13 2017

अब सलमान खान के केस पर टिकी निगाहें

जयपुर, 22 मार्च: मुंबई ब्लास्ट केस में फिल्म अदाकार संजय दत्त को सुनाई गई सजा के बाद अब सभी की नजरें काले हिरन के शिकार के वाकिया में फंसे सलमान खान पर टिकी हैं।

जयपुर, 22 मार्च: मुंबई ब्लास्ट केस में फिल्म अदाकार संजय दत्त को सुनाई गई सजा के बाद अब सभी की नजरें काले हिरन के शिकार के वाकिया में फंसे सलमान खान पर टिकी हैं।

राजस्थान के जोधपुर की निचली अदालत में कांकाणी की सरहद पर काले हिरनों के शिकार के इल्ज़ाम् में सलमान खान के खिलाफ हफ्ते को इल्ज़ाम तय किए जाएंगे।

राजश्री प्रोडक्शन की फिल्म हम साथ-साथ हैं की शूटिंग के दौरान हुए इस शिकार के वाकिया में सलमान के साथ फिल्म अदाकार सैफ अली खान, अदाकारा तब्बू, सोनाली बेंद्रे और नीलम के खिलाफ भी इल्ज़ाम तय किए जाएंगे। सभी मुल्ज़िमों को इस दिन अदालत में हाज़िर होना होगा।

जोधपुर के करीब लूणी इलाके के कांकाणी में 1 अक्तूबर 1998 की आधी रात को सलमान समेत दूसरे मुल्ज़िमों ने दो काले हिरनों का शिकार किया। यह मामला महकमा जंगलात ने दर्ज भी किया था।

शिकार के वक्त इस्तेमाल में लिए गए हथियारों को भी बरामद किया गया था, जिनकी लाइसेंस की मुद्दत भी खत्म हो चुकी थी। काले हिरन शिकार के वाकिया के इल्ज़ाम सुनाए जाने वाले दिन ही आर्म्स एक्ट के तहत चल रहे मामले की सुनवाई भी होगी।

अदाकार सलमान कांकाणी शिकार वाकिया के अलावा काले हिरन शिकार के दो और मामलों में फंसे हुए हैं। सलमान फिल्म हम साथ-साथ हैं की शूटिंग के दौरान ही साल 1998 में भवाद की सरहद पर और 27 सितंबर की आधी रात को घोड़ा फार्म में काले हिरन के शिकार वाकिया में भी मुल्ज़िम हैं। ये दोनों मामले मुकामी पुलिस थाने में दर्ज हुए थे।

भवाद शिकार वाकिया के मामले में सलमान को 17 फरवरी 2006 को जोधपुर की निचली अदालत ने एक साल की सजा सुनाई थी। सलमान की ओर से हुक्म के खिलाफ सेशन कोर्ट में अपील की गई थी और हुकूमत राजस्थान की ओर से कम सजा सुनाए जाने के खिलाफ जोधपुर के हाईकोर्ट में अपील की गई थी। फिर तय हुआ कि दोनों अपीलों की सुनवाई जोधपुर हाईकोर्ट में ही हो। फिलहाल जोधपुर हाईकोर्ट में ये अपीलें ड्यू कोर्स में पड़ी हैं।

घोड़ा फार्म शिकार के मामले में 10 अप्रैल 2007 को निचली अदालत ने सलमान को पांच साल कैद और 25 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई थी। इस हुक्म के खिलाफ भी सलमान सेशन कोर्ट गए, लेकिन सेशन कोर्ट ने कहा था कि सजा मुनासिब है, फैसले में मुदाखिलत की जरूरत ही नहीं है। इसके बाद सलमान ने जोधपुर हाईकोर्ट में अपील की थी। यह अपील भी ड्यू कोर्स में पड़ी है।

—————बशुक्रिया: अमर उजाला

TOPPOPULARRECENT