अमन की राह में आतंकवाद सबसे बड़ा खतरा- एम जे अकबर

अमन की राह में आतंकवाद सबसे बड़ा खतरा- एम जे अकबर

संयुक्त राष्ट्र में भारत के विदेश राज्य मंत्री का बयान, आतंकवाद सबसे बड़ा खतरा. इस दौर में शांति कायम करना बड़ी चुनौती है.
संयुक्त राष्ट्र: भारत ने संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों से कहा है कि अमन की राह में आतंकवाद प्रमुख खतरा है और गरीब लोग इससे सबसे ज्यादा असुरक्षित तथा पीडि़त हैं। भारत ने जोर देकर कहा कि अमन और शांति के बगैर दुनिया में समृद्धि नहीं लायी जा सकती । विदेश राज्यमंत्री एम जे अकबर ने कल यहां कहा, शांति के बगैर समृद्धि नहीं आ सकती और शांति की राह में आज सबसे बड़ा खतरा आतंकवाद है।
गरीब लोग आंतकवाद से सबसे ज्यादा असुरक्षित और पीडि़त हैं। संघर्ष तबाही की ओर ले जाता है। विकास के अधिकार पर उच्च स्तरीय समूह को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि 21वीं सदी में सभी क्षेत्रों में शांति कायम करना बड़ी चुनौती है और कोई भी शांति मानसिक शांति से बढ़कर नहीं है।

Top Stories