Thursday , December 14 2017

अमरीका और भारत में दिफ़ाई मुआहिदों पर दस्तख़त

अमरीकी वज़ीरे दिफ़ा एश्टन कार्टर ने बुध को भारत के साथ मुशतर्का तौर पर फ़ौजीयों को जदीद तरीन कीमीयाई और ह्यातयाती हथियारों से महफ़ूज़ रखने और फ़ौज के लिए मोबाइल हाइब्रिड पावर का निज़ाम बनाने के मुआहिदे को हतमी शक्ल दे दी है।

अमरीकी वज़ीरे दिफ़ा एश्टन कार्टर ने बुध को भारत के साथ मुशतर्का तौर पर फ़ौजीयों को जदीद तरीन कीमीयाई और ह्यातयाती हथियारों से महफ़ूज़ रखने और फ़ौज के लिए मोबाइल हाइब्रिड पावर का निज़ाम बनाने के मुआहिदे को हतमी शक्ल दे दी है।

एश्टन कार्टर ने भारती वज़ीरे आज़म नरेंद्र मोदी से मुलाक़ात की और दस साला दिफ़ाई मुआहिदे पर दस्तख़त किए। इस मुआहिदे पर इस साल जनवरी में सदर ओबामा के दौरे भारत के दौरान इत्तिफ़ाक़ हुआ था।

अमरीकी वज़ीर दिफ़ाई ने अपने भारती हम मंसब मनोहर पर्रीकर से भी मुलाक़ात की जिस में इस अहम दिफ़ाई मुआहिदे की तफ़सीलात तय कीं जिस के तहत दोनों मुल्क मुशतर्का तौर पर फ़ौज को बिजली की फ़राहमी को यक़ीनी बनाने के लिए मोबाइल या गश्ती और हाइब्रिड यानी दो मुख़्तलिफ़ ईंधनों पर चलने वाला ज़रीया बनाया जाएगा। इस के इलावा कीमीयाई और ह्यातयाती हथियारों से फ़ौजीयों को महफ़ूज़ रखने का निज़ाम भी वज़ा किया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT