Saturday , November 25 2017
Home / World / अमरीका पर रवां साल दाश के हमलों का अंदेशा

अमरीका पर रवां साल दाश के हमलों का अंदेशा

वाशिंगटन: अमरिका के सीनियर इन्टेलिजेंस‌ ओहदेदारों ने कहा है कि इस्लामिक स्टेट (दाश के क़ाइदीन इस साल अमरीका पर हमला करने का अज़म रखते हैं। इन ओहदेदारों ने अमरीकी क़ानून साज़ों से कहा कि पुर तशद्दुद इंतेहा पसंदों का एक छोटा ग्रुप इस किस्म के किसी हमले की राह में हाइल तकनीकी चैलेंजों से निमटने की कोशिश करसकता है।

अमरीकी क़ौमी इन्टेलिजेंस के डायरेक्टर जेम्स कलाइपर ने कांग्रेस कमेटी के इजलास पर बयान देते हुए दाश को एक नागुज़ीर दहशतगर्द ख़तरा क़रार दिया। क्लाइपर ने गुज़िशता रोज़ कहा कि ”ये अस्करीयत पसंद ग्रुप दुनिया-भर में कई निशानों पर रास्त हमले करसकता है या दूसरों को इसकी तरग़ीब दे सकता है”।

दिफ़ाई इन्टेलिजेंस एजेंसी के डायरेक्टर मैरीन लेफ्टेनेंट‌ जनरल रुत ने कहा कि दाश ग़ालिबन यूरोप में इब्तेदाई हमले करेगी और इस के बाद अमरीका में भी यही कोशिश की जाएगी। उन्होंने कहा कि अमरीकी इंटेलिजेंस इन्टेलिजेंस‌ समझती हैं कि आई एस क़ाइदीन अब महिज़ तन्हा-ए-हमलावरों की हौसला-अफ़ज़ाई करने के बजाय हमलों की रास्त हिदायात देने की सरगर्मीयों में मुलव्विस होंगे।

क्लाइपर ने कहा कि अलक़ायदा जिससे दाश का वजूद अमल में आया, हुनूज़ एक दुश्मन है इस के अलावा चीन, रूस और शुमाली कोरिया से लाहक़ साइबर ख़तरात पर भी अमरीका बदस्तूर नज़र रखेगा। शुमाली कोरिया अपने न्यूक्लीयर प्रोग्राम को वुसअत दे रहा है। शुमाली कोरिया ने यूरेनियम अफ़ज़ोदगी की तन्सीबात में तौसी की है और प्लूटोनियम का एक री ऐक्टर भी शुरू किया है जिससे चंद महीनों या हफ़्तों में न्यूक्लीयर का सलिहा के लिए मवाद तैयार किया जा सकता है|

TOPPOPULARRECENT