Saturday , December 16 2017

अमरीका शामी बागियों की फ़ौजी मदद करेगा

वाशिंगटन , 15 जून (पी टी आई/ए एफ़ पी) शामी सदर बशारुल असद ने मुल्क में कीमीयाई हथियार इस्तेमाल करते हुए रेड लाईन उबूर किया है , जिस पर अमरीका ने पहली बार बागियों को फ़ौजी मदद भेजने का फैसला किया है , एक आला अमरीकी ओहदेदार ने ये बात कही।

वाशिंगटन , 15 जून (पी टी आई/ए एफ़ पी) शामी सदर बशारुल असद ने मुल्क में कीमीयाई हथियार इस्तेमाल करते हुए रेड लाईन उबूर किया है , जिस पर अमरीका ने पहली बार बागियों को फ़ौजी मदद भेजने का फैसला किया है , एक आला अमरीकी ओहदेदार ने ये बात कही।

नायब क़ौमी सलामती मुशीर बेन रोह्ड्स ने कहा कि हमारी इन्टेलीजेंस कम्यूनिटी का तजज़िया है कि असद हुकूमत ने कीमीयाई हथियार इस्तेमाल किए जिन में बदहवास करने वाली ज़हरीली ग़ैस शामिल है। ऐसे हथियार गुज़िश्ता साल कई बार अपोज़ीशन के ख़िलाफ़ छोटे पैमाने पर इस्तेमाल किए गए

उन्हों ने कहा कि इन्टेलीजेंस वालों का तख़मीना है कि शाम में ताहाल कीमीयाई हथियारों के हमले में 100 ता 150 अफ़राद फ़ौत हुए हैं। सिनेटर जॉन मेकीन ने ओबामा इंतेज़ामीया की जानिब से मौक़िफ़ में तबदीली का ख़ैरमुक़दम किया है।

इन का कहना है वो (ओबामा) इस फ़ैसले पर पहुंच गए हैं कि कीमीयाई हथियार इस्तेमाल किए गए और अब वो बाग़ीयों को हथियार फ़राहम करेंगे क्योंकि उन्हों ने इस बात का एलान नहीं किया, हो सकता है कि वो ये इरादा बदल दें, लेकिन मुझे बताया गया है कि मुआमला यही है।

रोह्ड्स ने जॉन मेकीन की बातों की तसदीक़ नहीं की। ताहम कहा है कि वाशिंगटन इंतेज़ामीया का मौक़िफ़ सख़्त हो गया है।

TOPPOPULARRECENT