Tuesday , December 12 2017

अमरीकी तख़लिया पर इराक़ में जश्न

बग़दाद। 20 दिसमबर (एजैंसीज़) इराक़ी शहरीयों ने अमरीकी अफ़्वाज के तख़लिया कीतकमील पर जश्न मनाया, लेकिन सियासतदानों के इत्तिहाद पर शकूक-ओ-शुबहात भी ज़ाहिरकई, जिन पर तशद्दुद से मुतास्सिरा मुल़्क की तामीर-ए-नौ की ज़िम्मेदारी है। बग़

बग़दाद। 20 दिसमबर (एजैंसीज़) इराक़ी शहरीयों ने अमरीकी अफ़्वाज के तख़लिया कीतकमील पर जश्न मनाया, लेकिन सियासतदानों के इत्तिहाद पर शकूक-ओ-शुबहात भी ज़ाहिरकई, जिन पर तशद्दुद से मुतास्सिरा मुल़्क की तामीर-ए-नौ की ज़िम्मेदारी है। बग़दाद में अमरीकी फ़ौज के तख़लिया की तकमील पहुंचते ही दार-उल-हकूमत और मलिक के दीगरबड़े शहरों में लोग सड़कों पर जमा होगई, जिस की वजह से ट्रैफ़िक बुरी तरह मुतास्सिरहुई।

पुलिस और फ़ौज की चौकीयों पर ज़बरदस्त मजमा जमा होगया था, जिस की वजह से ट्रैफ़िक दिरहम ब्रहम होगई। शहरीयों ने जश्न मुसर्रत के साथ साथ मुल़्क की तामीर-ए-नौ केलिए सियासतदानों के एहतिजाज के बारे में शकूक-ओ-शुबहात और मलिक के मुस्तक़बिलके बारे में अंदेशे भी आम होगए हैं। एक लाख से ज़्यादा इराक़ी शहरी मुबय्यना तौर पर अमरीकी हमले के बाद अब तक तशद्दुद के वाक़ियात में हलाक होचुके हैं। एक शहरी ने रायज़ाहिर की कि मुल़्क की मईशत बेहतर बनाने के लिए तमाम शहरीयों को तआवुन करना चाआई। अहम सयासी मसाइल जैसे इस्लाहात और मईशत के बारे में फ़ैसले मुनज़्ज़म और बाक़ायदा अंदाज़ में किए जाने चाहिऐं।

TOPPOPULARRECENT