अमरीकी मआशी हालत अबतर, ग़ुर्बत की शरह 18 फ़ीसद हो गई

अमरीकी मआशी हालत अबतर, ग़ुर्बत की शरह 18 फ़ीसद हो गई
अमरीकी सिविल सोसाइटी ने मुल्क की ख़राब मआशी सूरते हाल पर तशवीश का इज़हार करते हुए कहा है कि हुकूमत की ग़लत पालिसीयों और सरमाया दाराना निज़ाम के बाइस मईशत का सत्यानास हुआ।

अमरीकी सिविल सोसाइटी ने मुल्क की ख़राब मआशी सूरते हाल पर तशवीश का इज़हार करते हुए कहा है कि हुकूमत की ग़लत पालिसीयों और सरमाया दाराना निज़ाम के बाइस मईशत का सत्यानास हुआ।

इंटरव्यू के दौरान ब्लैक एटानोमी नेटवर्क क्यूनिटी आर्गेनाईज़ेशन के कारकुनों ने नैशनल वीमेन्ज़ लॉ सेंटर की जानिब से जारी हालिया रिपोर्ट को मायूसकुन क़रार दिया जिस में कहा गया है कि ऐसी ख़वातीन की शरह 18 फ़ीसद तक पहुंच चुकी है जो अपनी मआशी हालत से ग़ैर मुतमइन और ग़ुर्बत का शिकार हैं।

कारकुनों ने कहा कि अमरीकी मुआशरा अदम मुसावात का शिकार है। तमाम शहरी इदारे लोगों को लूटने में मसरूफ़ हैं। जो कुछ इस वक़्त अमरीकी शहरीयों के साथ हो रहा है दुनिया के किसी मुआशरे में उस की मिसाल नहीं मिलती।

Top Stories