Sunday , December 17 2017

अमीत मिश्रा को मौक़ा दिया जाना चाहिए था: गहोरी

लेग स्पिनर अमीत मिश्रा न्यूज़ीलैंड का दौरा करनेवाली हिंदुस्तानी टीम के साथ मुसाफ़िर की हैसियत से वहां पहुंचने के बाद सीरीज़ के इख़तताम के साथ वतन वापिस होंगे। ताहम इंतिज़ामिया उन्हें मेज़बान टीम के ख़िलाफ़ क़तई 11 खिलाड़ियों में शामिल क

लेग स्पिनर अमीत मिश्रा न्यूज़ीलैंड का दौरा करनेवाली हिंदुस्तानी टीम के साथ मुसाफ़िर की हैसियत से वहां पहुंचने के बाद सीरीज़ के इख़तताम के साथ वतन वापिस होंगे। ताहम इंतिज़ामिया उन्हें मेज़बान टीम के ख़िलाफ़ क़तई 11 खिलाड़ियों में शामिल करना चाहिए था।

इन ख़्यालात का इज़हार हिंदुस्तान के साबिक़ फ़ास्ट बौलर गहोरी ने यहां किया। गहोरी ने मज़ीद कहा कि वो समझते हैं कि हिंदुस्तानी टीम इंतिज़ामिया की जानिब से दूसरे स्पिनर को मौक़ा दिया जाना चाहिए था लेकिन बदक़िस्मती से न्यूज़ीलैंड की फ़ास्ट विकटों पर दूसरे स्पिनर को मौक़ा नहीं मिला है लेकिन मेरा शख़्सी ख़्याल है कि जब रवी चंद्रन अश्विन ने वन्डे में न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ बेहतर मुज़ाहरा नहीं किया है।

अमीत मिश्रा को मौक़ा दिया जाना चाहिए था। हिंदुस्तान को न्यूज़ीलैंड पर लगातार‌ नाकामियों का सामना है जैसा कि उसे पहले इंगलैंड के ख़िलाफ़ 0-4 , ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ 0-4, जुनूबी अफ़्रीक़ा के ख़िलाफ़ 0-1 और न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ 0-1 की हार‌ बर्दाश्त करनी पड़ी है।

इस बारे में साबिक़ फ़ास्ट बौलर ने कहा कि जब तक राणजी क्रिकेट की सतह पर अंडर 16 और अंडर 19 के लिए फ़ास्ट बौलरों के लिए साज़गार विकटें तैयार नहीं की जाएंगी, हिंदुस्तानी टीम के बैरून-ए-मुल्क मुज़ाहिरों में बेहतरी मुश्किल है।

TOPPOPULARRECENT