Wednesday , January 24 2018

अमेरिकी सेना उस सेना पर हमला करती है जो आतंकवादी गुट से मुकाबला करती है : लेबनान के पूर्व राष्ट्रपति

लेबनान : लेबनान के पूर्व राष्ट्रपति एमिल लहूद ने एक विज्ञप्ति में कहा कि सीरिया के दैरूज़्ज़ूर क्षेत्र में इस देश के एक सैनिक ठिकाने पर अमेरिकी युद्धक विमानों का हमला इसके बाद हुआ जब वाशिंग्टन के पिछलग्गू आतंकवादी गुटों का अच्छी तरह समर्थन न कर सके और अमेरिका के सीधे हस्तक्षेप की आवश्यकता थी। उन्होंने कहा कि सीरिया पर इस्राईल के अतिक्रमण के कई दिन के बाद अमेरिका का सीरिया पर हमला हुआ है। उन्होंने कहा कि यह मामला अमेरिका, जायोनी शासन और उनके घटक देशों द्वारा आतंकवादी गुट आईएसआई के समर्थन का सूचक है। लेबनान के पूर्व राष्ट्रपति ने कहा कि अमेरिकी सेना उस सेना पर हमला करती है जो आतंकवादी गुट से मुकाबला करती है। ज्ञात रहे कि अमेरिकी युद्धक विमानों ने शनिवार की रात को दैरूज़्ज़ूर में हवाई अड्डे और सीरियाई सैनिक ठिकाने पर हमला करके कम से कम 62 सैनिकों को हताहत कर दिया था जबकि कुछ सूत्रों के अनुसार अमेरिका के इस हमले में 80 से अधिक सीरियाई सैनिक मारे गये हैं।

TOPPOPULARRECENT