Wednesday , November 22 2017
Home / World / अमेरिका दक्षिण एशिया में सुरक्षा मजबूत करने के लिए भारत को जरूरी संसाधन एवं तकनीक मुहैया कराएगा

अमेरिका दक्षिण एशिया में सुरक्षा मजबूत करने के लिए भारत को जरूरी संसाधन एवं तकनीक मुहैया कराएगा

उन्होंने कहा कि आपको घोषणा से इतर देखने की जरूरत नहीं है जिसके अनुसार अमेरिका भारत को सी गाडर्यिन यूएवी, अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर और सी-17 परिवहन विमान बेचेगा. पेंस ने कहा कि बिक्री को मंजूरी देने की प्रक्रिया चल रही है और उन्हें उम्मीद है कि इससे पारस्परिक सुरक्षा को लेकर दोनों देशों की प्रतिबद्धता दिखेगी और सुरक्षा के लिए भागीदारी के महत्व का पता चलेगा.

मोदी-ट्रंप की पहली मुलाकात में आतंकवाद को लेकर विस्तार से चर्चा हुई. प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत करीब 40 मिनट चली. साझा बयान में ट्रंप ने कहा कि अमेरिका और भारत दोनों आतंकवाद से प्रभावित हैं. भारत के साथ सुरक्षा साझेदारी बेहद अहम है. हम चरमपंथी इस्लामी आतंकवाद का खात्मा करेंगे.

प्रधानमंत्री मोदी की ट्रंप से मुलाकात से कुछ घंटे पहले अमेरिका ने आतंकवाद से लड़ाई में भारत की कोशिशों को एक बड़ा समर्थन दिया. अमेरिका ने हिज्बुल चीफ सैयद सलाउद्दीन को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित कर दिया है. साथ ही, अमेरिका ने कश्मीर में हुए हिज्बुल के आतंकी हमलों का भी जिक्र किया है. सैयद सलाउद्दीन आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन का सरगना है.

अमेरिका ने भारत को बड़े डिफेंस साझेदार के रूप में स्वीकार किया है. अभी हाल ही में अमेरिका F-16 विमान के भारत के निर्माण को लेकर समझौता हुआ. इसके बाद अब मोदी के दौरे के दौरान अमेरिका से नेवी के लिए गार्डियन ड्रोन को लेकर डील को भी मंजूरी मिल गई है. चीन और पाकिस्तान के खिलाफ भारत की रक्षा ताकत को इससे और मजबूती मिलेगी.

TOPPOPULARRECENT