Tuesday , December 12 2017

अमेरिका में राष्ट्रपति चाहे कोई भी बने, पाकिस्तान में जरूर खड़ी होगी मुसीबत

वाशिंगटन: डोनाल्ड ट्रंप और हिलेरी क्लिंटन दोनों नेताओं और उनकी पार्टियों के हालिया रुख से लग रहा है राष्ट्रपति कोई भी बने, पाकिस्तान के लिए मुसीबत ही खड़ी होगी। इन दोनों नेताओं ने घोषणा की है कि अगर उनकी पार्टी की सरकार बनती है तो यह सुनिश्ति किया जाएगा कि पाकिस्तान में किसी भी कीमत पर आतंकवादियों को पनाह न मिले। एक तरफ जहाँ हिलेरी ने एलान किया कि राष्ट्रपति बनने के बाद वह भी ओबामा के नक्शे कदम पर विदेश नीति जारी रखेंगी। वहीं, डोनाल्ड ट्रंप का पाकिस्तान को लेकर रुख और इरादे जगजाहिर हैं। डोनाल्ड ट्रंप अपने भाषणों में कह चुके हैं कि वह नहीं चाहते कि पाकिस्तान की जमीन पर आतंक फले-फूले और  पाकिस्तान पर दबाव डालेंगे कि अफगान तालिबान खत्म करे। इससे साफ जाहिर है कि सत्ता में हिलेरी आएं या ट्रंप, पाकिस्तान के लिए अगला राष्ट्रपति मुसीबत लेकर ही आ  रहा है। हिलेरी ने दुनिया के लिए सिरदर्द बना आतंकी संगठन ईसिस को को जड़ से उखाड़ने का वादा किया गया है।

TOPPOPULARRECENT