अमेरिका से सहायता पाने वाले देश आतंकवाद को समर्थन देकर हमारे दोस्त नहीं बन सकते- ट्रम्प

अमेरिका से सहायता पाने वाले देश आतंकवाद को समर्थन देकर हमारे दोस्त नहीं बन सकते- ट्रम्प
Click for full image

अमेरिका की ओर से पाकिस्तान पर लगातार दबाव बढ़ रहा है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि आतंकवाद का समर्थन करके कोई देश, अमेरिका का दोस्त नहीं हो सकता।

बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान को दी जाने वाली करीब दो अरब डॉलर की सुरक्षा सहायता पर भी रोक लगा दी थी। व्हाइट हाउस ने जानकारी देते हुए कहा कि अमेरिका से सहायता पाने वाले देश आतंकवाद को समर्थन देकर या उसे अनदेखा करके अमेरिका के दोस्त नहीं हो सकते।

अमेरिका की ओर से कहा गया है कि आतंक का समर्थन करने वाला पाकिस्तान खुद भी आतंक का सबसे बड़ा शिकार है। ट्रंप प्रशासन ने पाकिस्तान पर आरोप लगाया था कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में वह पर्याप्त काम नहीं कर रहा है।

ट्रंप के हाल के फैसलों का हवाला देते हुए व्हाइट हाउस ने उनकी विदेश नीति का फैक्ट शीट में विस्तृत ब्यौरा देते हुए कहा, ‘राष्ट्रपति ट्रंप हमारे सहयोगियों को यह स्पष्ट कर रहे हैं कि आतंक का समर्थन करके, या उसे अनदेखा करके वह अमेरिका के मित्र नहीं बन सकते।’

ट्रंप के पहले स्टेट ऑफ दी यूनियन संबोधन के बाद व्हाइट हाउस ने फैक्ट शीट में कहा, ‘राष्ट्रपति ने पाकिस्तान को सुरक्षा सहायता रोक दी और इस तरह सहायता पाने वालों को संदेश दिया कि हम उनसे यह उम्मीद करते हैं कि वह आतंकवाद से लड़ाई में पूरी तरह हमारे साथ होंगे।’

व्हाइट हाउस के मुताबिक ट्रंप अमेरिका की सुरक्षा के खतरों पर लगातार ध्यान देंगे और कट्टरपंथी इस्लामिक आतंक और इसकी विचारधारा से मुकाबला करने और उसे हराने के प्रयासों को प्राथमिकता देंगे।

Top Stories