Wednesday , November 22 2017
Home / World / अमेरिकी चुनाव में रूस का अड़ंगा!

अमेरिकी चुनाव में रूस का अड़ंगा!

फिलाडेल्फिया : अमेरिका और रूस के बीच विदेशी संबंध अर्से से सामान्य नहीं है। दुनिया की दो अलग-अलग महाशक्ति कहे जाने वाले ये दोनों देश एक-दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप मढ़ रहे हैं। नया विवाद डेमोक्रेटिक नेशनल कमेटी के ईमेल लीक का है। साइबर विशेषज्ञों ने इसके लिए रूस को जिम्मेवार ठहराया है। इन विशेषज्ञों का हवाला देते हुए मौजूदा अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने रूस पर हमला बोला। ओबामा ने कहा है कि ऐसा संभव है कि रूस अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में दखलंदाजी की कोशिश कर रहा है। ओबामा ने एनबीसी न्यूज को दिए इंटरव्यू में कहा, ‘हम जानते हैं कि रूसी लोग हमारे सिस्टम को हैक करते हैं। सिर्फ सरकारी सिस्टम को नहीं, बल्कि प्राइवेट सिस्टमों को भी। लेकिन क्या आप जानते हैं कि लीक वगैरह के पीछे के मकसद क्या है- मैं सीधे तौर पर नहीं कह सकता।’ उन्होंने कहा, ‘मैं यह जानता हूं कि डोनाल्ड ट्रंप ने बार-बार व्लादिमीर पुतिन की तारीफ की है।’
इस पर इंटरव्यूअर ने कहा कि ऐसा लगता है कि आप यह कह रहे हैं कि पुतिन ट्रंप को व्हाइट हाउस तक पहुंचाने के लिए लगे हो सकते हैं। सवाल के जवाब में ओबामा ने कहा, ‘मैं ऐसा उन बातों के आधार पर कह रहा हूं, जो ट्रंप ने खुद कही हैं। और मुझे लगता है कि ट्रंप को रूस में काफी अच्छी कवरेज मिली है।’ जब उनसे पूछा गया कि क्या रूसी लोग अमेरिकी चुनावों को प्रभावित करने की कोशिश कर रहे हैं, तो ओबामा ने कहा, ‘कुछ भी संभव है।’
ओबामा की ये टिप्पणियां विकीलीक्स की ओर से ईमेल जारी किए जाने के बारे में आई हैं। ये ईमेल डेमोक्रेटिक नेशनल कमेटी के सर्वर को अवैध रूप से हैक कर प्राप्त किए गए थे। इन ईमेल्स से यह संकेत मिलता है कि पार्टी लीडरशिप ने प्राइमरी चुनाव के दौरान हिलेरी क्लिंटन को वरमोंट के सीनेटर बर्नी सैंडर्स के खिलाफ अपना समर्थन दिया। इस बीच, डेमोक्रेटिक पार्टी और हिलेरी के प्रचार अभियान ने पाया कि आगामी सप्ताहों में और अधिक ईमेल जारी किए जा सकते हैं और इनका समय कुछ ऐसा रखा जाएगा ताकि डेमोक्रेटिक उम्मीदवार को ज्यादा से ज्यादा नुकसान पहुंचे।

TOPPOPULARRECENT