Sunday , December 17 2017

अमेरिकी जंगी जहाज खलीजे फारस में

अमेरिका ने इराक़ की सूरत-ए-हाल के पेशे नज़र ख़लीज-ए-फारिस में अपने जंगी बहरी बेड़े को उतार दिया है। इस फ़ौजी तैयारी का मतलब शोरिश पसंदों के ख़िलाफ़ इराक़ की लड़ाई में ज़रूरी तआवुन के लिए क़ौमी इत्तिहाद का मुज़ाहरा करना है।

अमेरिका ने इराक़ की सूरत-ए-हाल के पेशे नज़र ख़लीज-ए-फारिस में अपने जंगी बहरी बेड़े को उतार दिया है। इस फ़ौजी तैयारी का मतलब शोरिश पसंदों के ख़िलाफ़ इराक़ की लड़ाई में ज़रूरी तआवुन के लिए क़ौमी इत्तिहाद का मुज़ाहरा करना है।

डिफ़ेंस सेक्रेटरी चैक हीगल ने यू एस एस जॉर्ज एच डब्लयू बुश को हुक्म दिया कि वो शुमाली बहिरे-अरब में अपने बेड़े उतार दे। सदर अमेरिका बराक ओबामा ने इराक़ के लिए फ़ौजी कार्रवाई के इमकान को खुला रखा है। चैक हीगल के प्रेस सेक्रेटरी रीवर एडम जान कीरबे ने कहा कि इराक़ में अमेरिकी शहरियों और मुफ़ादात का तहफ़्फ़ुज़ करने के लिए अगर फ़ौजी कार्रवाई की ज़रूरत पड़े तो हुक्म देने का फ़ैसला किया है।

डिफ़ेंस सेक्रेटरी जान कैरी ने इराक़ के अपने हम मंसब होशियार ज़ुबैरी से टेलीफ़ोन पर बातचीत की और इराक़ की सूरत-ए-हाल पर तबादला-ए-ख़्याल किया। इराक़ की अलक़ायदा से वाबस्ता तंज़ीम आई एस आई एल की सरगर्मियों और उस की पेशरफ़त को रोकने के लिए इंतिज़ामात का जायज़ा लिया। इराक़ी सेक्यूरेटी फोर्सेस की मदद करने के लिए सदर अमेरिका बराक ओबामा ने तमाम हालात का जायज़ा लिया है। कैरी ने कहा कि अगर इराक़ी क़ाइदीन अपने इख़तिलाफ़ात को बालाए ताक़ रख कर शोरिश पसंदों की पेशरफ़त को रोकने की कोशिश करेंगे तो कामयाब होंगे। कल ही सदर बराक ओबामा ने कहा कि अमरीका ने आई ऐस आई एल की पेशरफ़त के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने हमा रुख़ी इख़्तयारात पर ग़ौर किया है।

इस दौरान वाईट हाओज़ डिप्टी प्रैस सेक्रेटरी जोश एर्न्स्ट ने कहा कि कल रात ओबामा ने क़ौमी सलामती मुशीर सोसान राईस से बातचीत करते हुए इराक़ की सूरत-ए-हाल पर तबादला-ए-ख़्याल किया। इस दौरान ईरान ने इराक़ में किसी भी किस्म की बैरूनी फ़ौजी मुदाख़िलत के ख़िलाफ़ इंतिबाह-ए-दिया है। इस से सूरत-ए-हाल मज़ीद पेचीदा-ए-होगी। ख़लीज-ए-फारिस में अमरीकी जहाज़ को तैनाती के बाद ईरान ने कहा कि इराक़ में बैरूनी मुदाख़िलत बर्दाश्त नहीं जाएगी। ईरान के वज़ारत-ए-ख़ारजा के तर्जुमान ने कहा कि इराक़ के अंदर दहशतगरदों और इंतहापसंदों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने की सलाहियत मौजूद है। अगर ज़रूरी हुआ तो इराक़ इन शोरिश पसंदों का मुंहतोड़ जवाब देगा। इराक़ में पाई जाने वाली मौजूदा सूरत-ए-हाल में कोई बैरूनी कार्रवाई से कैफ़ीयत मज़ीद पेचीदा होजाएगी। ये
वस्त-ए-इराक़ में आज मोर्टर दागे़ गए जिस में 6 पुलिस मुलाज़िमीन हलाक हुए हैं। सूबा वयाला के शुमाल में इस हमले में 3 सिपाही भी हलाक हुए हैं। इंतहापसंदों की कार्रवाई के दरमयान वज़ीर-ए-आज़म नूरी अलमालिकी ने ऐलान किया कि इराक़ी हुकूमत इंतहापसंदों को शिकस्त देने के लिए अपने शहरियों और वालेन्टियर्स को मुसल्लह करेगी। इस सिलसिले में हज़ारों शहरियों ने रज़ाकाराना तौर पर दस्तख़त किए हैं।

इस दौरान वसती बग़दाद में आज एक कार बम धमाका हुआ जिस में 10 अफ़राद हलाक और 21 ज़ख़मी होगए । पुलिस और हॉस्पिटल के ओहदेदारों ने ये बात बताई । बग़दाद में गुज़िश्ता चंद माह के दौरान ख़ुदकुश और कार बम धमाकों के वाक़ियात में काफ़ी इज़ाफ़ा होगया है । ये शहर फ़िलहाल दहशतगरदों के क़बज़ा में जाने का इमकान नज़र नहीं आता लेकिन यहां ग़िज़ाई अजनास की क़ीमतें काफ़ी बढ़ गयीं हैं । ट्रांसपोर्ट सिस्टम मफ़लूज होकर रह गया । हुकूमत ने बग़दाद के अतराफ़ दिफ़ाई चौकसी बढ़ा दी है और हज़ारों आम अफ़राद ने भी अपने मुल्क के दिफ़ा के लिए हथियार उठा लिए हैं और वो सड़कों पर गश्त कररहे हैं ।

TOPPOPULARRECENT