अमेरीकी वीज़ा के लिए मोदी की दरख़ास्त पर ग़ौर भी मुम्किन

अमेरीकी वीज़ा के लिए मोदी की दरख़ास्त पर ग़ौर भी मुम्किन
अमेरीकी महिकमा-ए-ख़ारजा के एक सीनीयर ओहदेदार (senior State Department official) ने गुजरात के चीफ़ मिनिस्टर नरेंद्र मोदी का बराह-ए-रास्त ( सीधे तौर पर) नाम लिए बगै़र कहा कि अमेरीकी उन (मोदी) की वीज़ा दरख़ास्त पर अमेरीकी क़वानीन ( नियम व कानून) तर्जीहात और उसू

अमेरीकी महिकमा-ए-ख़ारजा के एक सीनीयर ओहदेदार (senior State Department official) ने गुजरात के चीफ़ मिनिस्टर नरेंद्र मोदी का बराह-ए-रास्त ( सीधे तौर पर) नाम लिए बगै़र कहा कि अमेरीकी उन (मोदी) की वीज़ा दरख़ास्त पर अमेरीकी क़वानीन ( नियम व कानून) तर्जीहात और उसूलों के मुताबिक़ ग़ौर करेगा ।

नायब वज़ीर-ए-ख़ारजा बराए अवामी उमूर माईक हैमर ने यहां बैरूनी सहीफ़ा निगारों से ख़िताब करते हुए कहा कि जैसा कि ग़ालिबन ( शायद) आप जानते हैं हम बिलउमूम (आमतौर पर) किसी इन्फ़िरादी ( व्यक़्तिगत/ या एक ) शख़्स के वीज़ा की दरख़ास्तों से मुताल्लिक़ सवालात को कुबूल नहीं करते ।

ताहम ( यद्वपी) अमेरीकी क़वानीन (नियम व कानून) के मुताबिक़ उन की दरख़ास्त पर ग़ौर भी किया जा सकता है । लेकिन इस ज़िमन में ( इसके अंतर्गत) वाज़िह ( स्पष्ट) तौर पर कहने के लिए मेरे पास कुछ भी नहीं है । माईक हैमर ने नरेंद्र मोदी के बारे में एक सवाल का जवाब देते हुए इस मौक़िफ़ ( निश्चय) को वाज़िह ( स्पष्ट) किया ।

क्योंकि बर्तानिया ने मोदी के साथ राबिता (संबंध) ना रखने से मुताल्लिक़ अपनी 10 साल से जारी पालिसी पर नज़रसानी ( पुन: विचार) करने का फ़ैसला किया है । फ़रवरी 2002 में गुजरात फ़िर्कावाराना फ़सादाद के बाद बर्तानिया अमेरीका और दीगर ( अन्य) कई मग़रिबी ममालिक ने मोदी को वीज़ा देने से इनकार कर दिया था ।

बर्तानिया के हालिया फ़ैसला के तनाज़ुर ( विवाद) में मिस्टर माईक हैमर से दरयाफ्त किया गया था कि आया मोदी से मुताल्लिक़ अमेरीकी पालिसी में कोई तबदीली ( परिवर्तन)) की गई है । लेकिन उन्होंने जवाब दिया कि उन्हें इस का कोई इल्म ( जानकारी) नहीं है ।

अमेरीकी अख़बार वाशिंगटन पोस्ट ने मोदी के ख़िलाफ़ पाबंदीयों की बर्ख़ास्तगी से मुताल्लिक़ बर्तानवी फ़ैसला का ख़ौरमक़दम ( स्वागत) किया है और कहा है कि ये दरअसल बैन-उल-अक़वामी ( अ‍ंतर्राष्ट्रीय) बिरादरी में मोदी की मस्ख़शुदा ( रुपांतरित/ बदली हुयी ) साख को ख़त्म करने की कोशिशों का आग़ाज़ ( शुरूआत) है ।

Top Stories