Wednesday , December 13 2017

अमोनिया गैस से दो बेहोश, कई बीमार

खाजेकलां के सुदर्शन पथ में नाथ कोल्ड स्टोरेज के गैस सिलिंडर में बुध की शाम रिसाव होने से आसपास के इलाकों में अफरातफरी मच गयी। इस पर काबू पाने के लिए गया स्टोरेज का मुलाज़िम दरभंगा के बहेड़ी रिहायसी बलवीर वहीं पर बेहोश होकर गिर गया

खाजेकलां के सुदर्शन पथ में नाथ कोल्ड स्टोरेज के गैस सिलिंडर में बुध की शाम रिसाव होने से आसपास के इलाकों में अफरातफरी मच गयी। इस पर काबू पाने के लिए गया स्टोरेज का मुलाज़िम दरभंगा के बहेड़ी रिहायसी बलवीर वहीं पर बेहोश होकर गिर गया। साथ ही स्टोरेज के गेट पर गाड़ी पर सोया टेंपो ड्राईवर भी बेहोश हो गया।

दोनों को इलाज के लिए एनएमसीएच में भरती कराया गया है। बताया जाता है कि जिस वक़्त वाकिया हुई, उस वक़्त कोल्ड स्टोरेज में पांच मजदूर सोने की तैयारी में थे। आसपास घनी आबादी है और वहां भी लोग सोने की तैयारी कर रहे थे।

रिसाव होने के कुछ देर बाद ही अमोनिया गैस आसपास के करीब दो सौ मीटर के दायरे में तुरंत ही फैल गयी और लोगों को सांस, पेट में दर्द और खांसी की शिकायत होने लगी। अचानक हुई वाकिया के बाद लोग अपने घरों से बाहर निकले, तो उन्हें इस वाकिया की जानकारी मिली। आसपास के घर वालों ने कोल्ड स्टोरेज से कुछ दूरी बना ली। दूसरी तरफ, वाकिया होने के बाद कोल्ड स्टोरेज को बंद कर मुलाज़मीन वहां से फरार हो गये। गैस रिसाव पर काबू पाने के लिए फायरब्रिगेड की गाड़ी को बुला लिया गया था। देर रात तक अमोनिया गैस रिसाव को पानी की बौछार से दबाने की कोशिश किया जा रहा था।

आलू का होता है स्टोरेज
कोल्ड स्टोरेज में आलू और प्याज का स्टोरेज किया जाता है। यह रज्जू साह का है। इसके मैनेजर राघवेंद्र है। कोल्ड स्टोरेज के मालिकों के मुताबिक, सिलिंडर की मेन लाइन में लिकेज से रिसाव हुआ था। वाकिया नौ बज कर 45 मिनट के आसपास हुई है। इस वक़्त आसपास के घरों में लोग अपने काम को निबटा कर सोने की तैयारी में थे। अगर यह वाकिया एक घंटे बाद यानी 10 बज कर 45 मिनट पर भी होती, तो ज़्यादातर लोग सो चुके होते और बड़े हादसे की खदशा से इनकार नहीं किया जा सकता था। टेंपोचालक गेट के पास ही सोया था, जिसकी वजह उसे गैस के रिसाव की जानकारी नहीं मिली और वह भी बेहोश हो गया।

ठंडक के लिए इस्तेमाल
कोल्ड स्टोरेज के अंदर ठंडक पैदा करने के लिए अमोनिया गैस रखी जाती है, ताकि वक़्त-वक़्त पर अंदर का महौलीयात ठंडा बना रहे। अगर ठंडक नहीं रहेगी, तो आलू-प्याज ज्यादा दिन तक ठीक नहीं रह सकते हैं।

TOPPOPULARRECENT