Thursday , November 23 2017
Home / Featured News / अयोध्या में राम मंदिर पहले से मौजूद, राजनीतिक विरोध बंद किया जाए

अयोध्या में राम मंदिर पहले से मौजूद, राजनीतिक विरोध बंद किया जाए

बलिया (यूपी): अयोध्या में राम मंदिर पहले से मौजूद है और इस मामले को ध्यान से समीक्षा की जरूरत है। उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकान्त शर्मा ने आज यह बात कही।

उन्होंने बताया कि मंदिर की यह समस्या जनता के विश्वास से संबंध रखती है। उन्होंने मीडिया के प्रतिनिधियों से बातचीत करते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने भी यह स्वीकार किया है कि यह विश्वास का मामला है। जो लोग मंदिर के खिलाफ हैं उन्हें राजनीतिक विरोध बंद करना चाहिए।

अयोध्या में इस समय अस्थायी राम मंदिर है जहां मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश योगी आदित्यनाथ ने कल पूजा की थी। श्रीकान्त शर्मा ने विपक्षी दलों से गठबंधन बनाने  के प्रयासों को भी खारिज कर दिया और कहा कि इससे उनकी निराशा व्यक्त होती है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस का सफाया हो गया और सपा व बसपा में इतना साहस नहीं है कि वह भाजपा नेताओं नरेंद्र मोदी और आदित्यनाथ का सामना कर सके।

श्रीकान्त शर्मा ने यूपी में लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति के लिए पूर्ववर्ती समाजवादी पार्टी को दोषी करार दिया। उन्होंने इल्ज़ाम लगाया कि विपक्ष राज्य में आदित्यनाथ सरकार की छवि विकृत करने की साजिश कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि पिछले कुछ सप्ताह के दौरान हिंसक घटनाए इसी का सबूत हैं।

TOPPOPULARRECENT