Sunday , December 17 2017

अरकान असबमली का मुसलसल इन्हिराफ़ कांग्रेस हुकूमत केलिए परेशानकुन

हैदराबाद । 1 नवमबर । (नईम वजाहत) रियासत में बरसर-ए-इक़तिदार कांग्रेस पार्टी आहिस्ता आहिस्ता डेंजर ज़ोन के क़रीब पहूंच रही है और इक़तिदार पर बरक़रार रहने के अख़लाक़ी हक़ से महरूम होरही है। बज़ाहिर हुकूमत को कोई ख़तरा ना होने का दावा किया ज

हैदराबाद । 1 नवमबर । (नईम वजाहत) रियासत में बरसर-ए-इक़तिदार कांग्रेस पार्टी आहिस्ता आहिस्ता डेंजर ज़ोन के क़रीब पहूंच रही है और इक़तिदार पर बरक़रार रहने के अख़लाक़ी हक़ से महरूम होरही है। बज़ाहिर हुकूमत को कोई ख़तरा ना होने का दावा किया जा रहा है मगर इस के तीन अरकान असबमली की टी आर ऐस में हालिया शमूलीयत के बाद मुआमला संगीन हो चला है ।

ऐवान में हुकूमत को अक्सरीयत साबित करने केलिए 147 अरकान की ताईद चाहीए प्रजाराज्यम के 17 अरकान असबमली को शामिल करने के बावजूद कांग्रेस के अरकान की तादाद 143 है । वाज़िह रहे कि कांग्रेस के 26 अरकान असबमली वाई ऐस जगन मोहन रेड्डी की ताईद करते हुए पार्टी से मुस्ताफ़ी होचुके हैं और 5 अरकान असबमली तलंगाना की ताईद में अस्तीफ़े दे चुके हैं जिस में टी आर ऐस में शमूलीयत इख़तियार करने वाले 3 अरकान असबमली भी शामिल हैं। कांग्रेस के मुआविन रुकन असबमली राजेश्वर रेड्डी ( महबूबनगर ) की दो रोज़ क़बल मौत वाक़्य होचुकी है ।

कांग्रेस की नाज़ुक हालत का अंदाज़ा करने के बाद सैक्रेटरी इंचार्ज ए पी उमोर मिस्टर के बी कृष्णा मूर्ती हैदराबाद पहुंचकर चीफ़ मिनिस्टर मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी , सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी मिस्टर बी सत्य ना रावना के इलावा पार्टी के दूसरे क़ाइदीन से तबादला-ए-ख़्याल करते हुए ताज़ा सूरत-ए-हाल से वाक़फ़ीयत हासिल करचुके हैं। 294 रुकनी असबमली में एक रुकन असबमली के इंतिक़ाल के बाद अरकान असबमली की तादाद घट कर 293 होगई है । तशकील हुकूमत केलिए 148 अरकान असबमली की जादूई तादाद ज़रूरी है । ताहम एक रुकन असबमली के इंतिक़ाल के पेशे नज़र 147 अरकान असबमली की ताईद ज़रूरी है । कांग्रेस के 155 अरकान असबमली हैं , इस को तीन आज़ाद अरकान असबमली की ताईद हासिल है ।

बमली इस्तीफ़ा देते हुए वाई ऐस आर कांग्रेस पार्टी में शामिल होने का ऐलान करचुके हैं । एक रुकन असबमली चल बसे और 5 अरकान असबमली के तेलंगाना की ताईद में अस्तीफ़े देने से इस की तादाद घट कर 143 होगई । जादूई हिंदसा से कांग्रेस पिछड़ चुकी है और अक्सरीयत साबित करने केलिए इस के पास 4 अरकान असबमली की कमी है । चुनांचे कांग्रेस हुकूमत डेंजर ज़ोन के क़रीब पहूंच चुकी है । मगर कांग्रेस ज़रूरत पड़ने पर मजलिस की ताईद हासिल होने की तवक़्क़ो रखी हुई है । अगर तहरीक अदमे इअतिमाद मैं मजलिस की ताईद हासिल होजाती है तो हुकूमत को कोई ख़तरा नहीं है ।

हुकमरान कांग्रेस केलिए राहत की बात ये भी है कि असल अप्पोज़ीशन तेलगुदेशम के 93 के मिनजुमला 40 अरकान असबमली भी इस्तीफ़ा दे चुके हैं जिस में 2 अरकान असबमली वाई ऐस आर कांग्रेस पार्टी में शामिल होने का ऐलान करचुके हैं। 32 अरकान असबमली तेलंगाना की ताईद में इस्तीफ़ा दे चुके हैं और तेलगुदेशम के ही 6 अरकान असबमली नायडू से बग़ावत करते हुए इस्तीफ़ा दे चुके हैं जिन में तीन अरकान असबमली टी आर ऐस में शामिल हुए हैं । इस्तीफ़ा देने के बाद पोचाराम सरीनवास बानसवाड़ा के ज़िमनी इंतिख़ाबात में टी आर इसके टिकट पर दुबारा कामयाब हुए हैं। टी आर एस के 12 के मिनजुमला 11 अरकान असबमली भी इस्तीफ़ा दे चुके हैं। इसतरह जगन और तेलंगाना की ताईद में कांग्रेस के 31 , तेलगुदेशम के 40 और टी आर इसके 11 जुमला 82 अरकान असबमली इस्तीफ़ा दे चुके हैं ।

अगर असल अप्पोज़ीशन तेलगुदेशम पार्टी हुकूमत के ख़िलाफ़ तहरीक अदमे इअतिमाद पेश करती है तो हुकूमत को बचाने केलिए कांग्रेस पार्टी कुछ भी करसकती है । मुख़ालिफ़ पार्टी काम करने वाले जिन अरकान असबमली की रुकनीयत बर्ख़ास्त करने केलिए सयासी जमातों से स्पीकर को जो नुमाइंदगीयाँ वसूल हुई हैं इस पर फ़ौरी अमल करते हुए कांग्रेस तेलगुदेशम और प्रजा राज्यम के अरकान असबमली की रुकनीयत मंसूख़ करा सकती है ।

इस से असबमली में अप्पोज़ीशन की तादाद मज़ीद घट जाएगी और ख़तरा फिर भी महसूस हुआ तो जिन तीन अरकान असबमली ने टी आर उसकी रुकनीयत क़बूल की है उन की असबमली रुकनीयत भी मंसूख़ की जा सकती है और तहरीक अदमे इअतिमाद के दौरान ऐवान में हाज़िर रहने वाले अरकान की तादाद को पेशे नज़र रखकर फ़ैसला किया जा सकता है । अगर इस तरह के तरीक़ा अपनाए जाते हैं तो हुकूमत को हक़ीक़त में कोई ख़तरा नहीं रहेगा।

TOPPOPULARRECENT