Monday , June 18 2018

अरकान असम्बली इस्तीफ़ा(नौकरी से त्याग‌) दें तो तलंगाना का क़ियाम मुम्किन(संभव‌)

हैदराबाद १७ अक्तूबर (सियासत न्यूज़) कांग्रेस के सीनीयर क़ाइद-ओ-साबिक़ रुकन राज्य सभा डाक्टर के केशव राव‌ ने कहा कि तलंगाना के अरकान असैंबली अस्तीफ़ा दें तो अलहदा तलंगाना रियासत क़ायम होगी। अवामी जज़बात(भावनाए) का एहतिराम (सम्मान

हैदराबाद १७ अक्तूबर (सियासत न्यूज़) कांग्रेस के सीनीयर क़ाइद-ओ-साबिक़ रुकन राज्य सभा डाक्टर के केशव राव‌ ने कहा कि तलंगाना के अरकान असैंबली अस्तीफ़ा दें तो अलहदा तलंगाना रियासत क़ायम होगी। अवामी जज़बात(भावनाए) का एहतिराम (सम्मान) करना जमहूरीयत के एहतिराम के मुतरादिफ़(एक समान/बराबर‌)है। आज तलंगाना नग़ारा समीती के ज़ेर-ए-एहतिमाम इंदिरा पार्क पर मुनाक़िदा एहितजाजी धरना से ख़िताब करते हुए कहा कि इलाक़ा तलंगाना के हर फ़र्द के दिल में तलंगाना का जज़बा ही।

नज़रियाती इख़तिलाफ़ात हो सकते हैं, ताहम अलहदा तलंगाना रियासत की तशकील के मुआमले में सब की मुत्तफ़िक़ा(ऎक समान‌) राय हैं। उन्हों ने असैंबली में तलंगाना की ताईद में क़रारदाद मंज़ूर करने तक असैंबली में क़दम ना रखने का तलंगाना अरकान असैंबली को मश्वरा दिया और कहा कि अगर वो अपने अस्तीफ़े उन के हाथ में पेश करदें तो वो अलहदा तलंगाना की तशकील को यक़ीनी बनाईंगी। अलहदा तलंगाना रियासत की तशकील के लिए मुत्तहदा (मिला हुआ)जद्द-ओ-जहद करना चाहिए ।

असैंबली में क़रारदाद पेश करने की सूरत में ही असैंबली इजलास में शिरकत का फ़ैसला किया जाय और मर्कज़ पर दबाव‌ बनाने की सूरत में ही अलहदा तलंगाना रियासत तशकील पाएगी। डाक्टर केशव राव‌ ने कहा कि ये अवामी तहरीक ही, तलंगाना क़ाइदीन, दानिश्वर, रज़ाकाराना (स्वंय सेवी जैसा)तंज़ीमें और ताईद(सहायता/मदद‌) करनेवाली जमातें नज़रियाती इख़तिलाफ़ को फ़रामोश करके एक प्लेटफार्म पर जमा हो जाएं और मक़सद के हुसूल के लिए मुत्तहिद (मैलमिलाप रखने वाला)हो जाएं। अगर तलंगाना अरकान असैंबली अपना अस्तीफ़ा उन के हवाले करदें तो वो दस दिन में अलहदा रियासत की तशकील को यक़ीनी बनाईंगी। उन्हों ने तलंगाना वुज़रा और कांग्रेस अरकान असैंबली को तलंगाना की ताईद में हाईकमान और मर्कज़ को मुक्तो बात रवाना करने का मश्वरा दिया।

सदर प्रदेश कांग्रेस बी सत्य ना रावना की जानिब से सकनड ऐस आर सी का शोशा छोड़ने पर एतराज़ किया। ऐसा लगता है कि कांग्रेस को अवामी जज़बात और मुफ़ादात का कुछ भी ख़्याल नहीं ही। उन्हों ने इद्दिआ (दावा करना)किया कि तलंगाना का नारा जो भी लगाएगा, वोट उसी को हासिल होगा। उन्हों ने टी आर उसको अलहदा रियासत की तशकील के लिए तहरीक में शामिल तमाम जमातों और तंज़ीमों को साथ लेकर काम करने का मश्वरा दिया।

TOPPOPULARRECENT