Monday , December 18 2017

अरबी और उर्दू शिक्षा पर हिंदुत्व संगठनों का विरोध

मंगलोर: हिंदुत्व संगठनों से जुड़े लगभग 50 लोगों ने एक ईसाई स्कूल में छात्रों को अरबी और उर्दू की शिक्षा देने पर निशाना बनाया। यह घटना मंगलोर के बाहरी इलाके में स्थित सेंट थॉमस वर्धित हायर प्राइमरी स्कूल में हुई। स्थानीय लोगों ने शिकायत की कि छात्रों को जबरन अरबी और उर्दू पढ़ाई जा रही है जिस पर हिंदू कार्यकर्ता कक्षा में घुस आए।

उनके साथ मीडिया के प्रतिनिधि भी थे जहां उन्होंने छात्रों की किताबें छीन लीं। इन श्रमिकों का संबंध श्री रामा सेने से बताया गया है। स्कूल हेडमास्टर मेलॉन बरागस कहा कि कक्षा में अरबी पढ़ाने पर यह आपत्ति किया जा रहा है। सूत्रों ने बताया कि अशरार ने मोबाइल फोन का उपयोग करते हुए कक्षा और छात्रों सहित मुस्लिम छात्राओं की उनकी अनुमति के बिना वीडियोग्राफी की। मेलॉन बरागस ने बताया कि छटी और सातवीं कक्षा के 40 छात्रों के लिए माता पिता के अनुरोध उर्दू और अरबी क्लासेस‌ हर सप्ताह आयोजित की जा रही हैं। यहाँ अरबी अलावा जर्मन और फ्रेंच की शिक्षा भी दी जाती है।

TOPPOPULARRECENT