Wednesday , December 13 2017

अरब लीग में शाम पर पाबंदी लगाने पर इत्तिफ़ाक़

बेरूत 28 नवंबर (राईटर) मुशाहिदीन के शाम जाने से मुताल्लिक़ उस की तरफ़ से कोई जवाब ना मिलने और मुज़ाहिरीन के ख़िलाफ़ जारी फ़ौजी कार्रवाई से नाराज़ अरब लीग के लीडरों ने दमिशक़ पर पाबंदी लगाने पर इत्तिफ़ाक़ किया है।अरब लीग के लीडरों की यहां

बेरूत 28 नवंबर (राईटर) मुशाहिदीन के शाम जाने से मुताल्लिक़ उस की तरफ़ से कोई जवाब ना मिलने और मुज़ाहिरीन के ख़िलाफ़ जारी फ़ौजी कार्रवाई से नाराज़ अरब लीग के लीडरों ने दमिशक़ पर पाबंदी लगाने पर इत्तिफ़ाक़ किया है।अरब लीग के लीडरों की यहां हुई मीटिंग में कल इस बात पर इत्तिफ़ाक़ हुआ। अरब लीडरों की मीटिंग शुरू होने से कुछ देर पहले भी फ़ौजीयों नीहमस शहर में अलग अलग जगहों परचार लोग हलाक होगई।

यही वजह है कि अरब लीग को शाम के ख़िलाफ़ पाबंदी लगाने पर मजबूर होना पड़ रहा है।अरब लीग ने शाम को वार्निंग दी है कि अगर इस ने मुशाहिदीन कुमलक में दाख़िल होने की इजाज़त नहीं दी तो इस के ख़िलाफ़ पाबंदीयां आइद की जा सकती हैं। अरब लीग की दस्तावेज़ात के मुताबिक़ पाबंदीयों के तहत शाम जाने वाली तिजारती परवाज़ों को मंसूख़ करदिया जाएगा और सैंटर्ल बैंक-ओ-दीगर माली लेन देन पर रोक लगा दी जाएगी। इस के इलावा शाम की हुकूमत के बैंक खातों को सील करदिया जाएगा।शाम के सीनीयर आफ़िसरान के सफ़र पर भी पाबंदी आइद करदी जाएगी।

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के रिपोर्ट के मुताबिक़ असद की हुकूमत के ख़िलाफ़ पिछले 8 महीने से जारी मुल्क गीर एहितजाजी मुज़ाहिरों के दौरान अभी तक साढे़ तीन हज़ार अफ़राद मारे जा चुके हैं। दूसरी तरफ़ हुकूमत का कहना है कि इस दौरान इस के भी कई फ़ौजी मारे गए हैं जिन में फ़िज़ाईया के 6पायलट भी शामिल हैं।

हक़ूक़-ए-इंसानी की तंज़ीमों की रिपोर्टों के मुताबिक़ अरब लीग की सनीचर के रोज़ यहां हुई मीटिंग से कुछ देर क़बल असद हामी फ़ौजीयों ने हम्मस में चार अफ़राद को हलाक करदिया। शाम की हक़ूक़-ए-इंसानी की तंज़ीम ऑब्ज़र्वेटरी के मुताबिक़ मरने वालों में एक दस साला बच्चा भी था इस के इलावा मुलक के दीगर हिस्सों में कल कई जगह मुज़ाहिरीन पर हमले किए गए।

TOPPOPULARRECENT