Friday , December 15 2017

अर्जनटीना और हॉलैंड के बीच‌ आज दूसरा सेमीफाइनल

लियोनल मेसी के ज़ेर-ए-क़ियादत अर्जनटीना और अर्जुन रॉबिन की टीम हॉलैंड के बीच आज‌ यहां सापालो के कोरियन थीनस एरेना में फ़ीफ़ा वर्ल्ड कप 2014 का दूसरा सेमीफाइनल खेला जाएगा।

लियोनल मेसी के ज़ेर-ए-क़ियादत अर्जनटीना और अर्जुन रॉबिन की टीम हॉलैंड के बीच आज‌ यहां सापालो के कोरियन थीनस एरेना में फ़ीफ़ा वर्ल्ड कप 2014 का दूसरा सेमीफाइनल खेला जाएगा।

अर्जनटीना जिसने 1990 में आख़िरी मर्तबा फाईनल खेला है वो आज‌ एक बेहतर मुज़ाहरा करते हुए एक अर्सा के बाद दुबारा ख़िताबी मुक़ाबले में अपनी मौजूदगी को यक़ीनी बनाने के इलावा अपने साबिक़ अज़ीम खिलाड़ी अल्फ्रेडो डी अस्टेफ़ानो जो कि 88 साल‌ की उम्र में पीर को इंतिक़ाल करगए हैं उनको एक बेहतर ख़राज अक़ीदत पेश करने के लिए कोशिश‌ होगा।

दूसरी जानिब नीदरलैंड भी अपने शानदार फ़ार्म को हासिल करने के इलावा 1974 , 1978 और 2010 के ख़िताबी मुक़ाबलों की नाकामी के सिलसिले को तोड़ने के लिए होगी। इस बारे में इज़हार ख़्याल करते हुए हॉलैंड के ग्रेग कवेट ने फ़ीफ़ा डाट काम पर कहा कि सेमीफाइनल , फाईनल से कम नहीं होता कि नाकामी का मतलब वर्ल्ड कप से ख़ाली हाथ लौटना है और हम चाहते हैं कि कामयाबी हासिल करें।

उन्होंने मज़ीद कहा कि अर्जनटीना एक आलमी मेआरी टीम है जो कि वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में क़तई 4 टीमों में अपने मुक़ाम की हक‌ है , लेकिन हम इसके ख़िलाफ़ बेहतर मुज़ाहरा ही नहीं करेंगे बल्कि कामयाबी हासिल करने के लिए कोशिश‌ भी हैं। यही वजह है कि हम यहां मौजूद हैं।

हॉलैंड के दूसरे मरहले के ख़िताबी मुक़ाबले की नाकामी अर्जनटीना के ख़िलाफ़ ही दर्ज की गई है जैसा कि उसे हरीफ़ टीम ने बियोन्स आवर्स के मोनू मेंटल स्टेडियम में 3-1 से मात दी थी। सेमीफाइनल में अर्जनटीना की फिर एक मर्तबा तमाम तर उम्मीदें सुपर फ़ौर और मेसी पर मर्कूज़ हैं।

TOPPOPULARRECENT