अर्थव्यवस्था को लेकर मोदी सरकार पर चौतरफा हमला शुरु, RBI के पूर्व गवर्नर ने भी उठाए सवाल

अर्थव्यवस्था को लेकर मोदी सरकार पर चौतरफा हमला शुरु, RBI के पूर्व गवर्नर ने भी उठाए सवाल
Click for full image

वाशिंगटन। जी.डी.पी. को लेकर मचे घमासान में अब पूर्व आर.बी.आई. गर्वनर यज्ञ वेणुगोपाल रैड्डी भी कूद गए है। रैड्डी ने मोदी सरकार पर इशारों में निशाना साधते हुए देश की आर्थिक वृद्धि के लिए गठबंधन सरकारों को बेहतर बताया क्योंकि पिछले 3 दशक में इन्होंने बहुमत की सरकारों की अपेक्षा भारत को बेहतर आॢथक वृद्धि दी है।

रैड्डी ने यहां एक कार्यक्रम में कहा कि यह रोचक बात है कि भारत में सबसे अधिक आर्थिक वृद्धि 1990 से 2014 के बीच गठबंधन सरकारों के दौरान ही रही। एक तरह से देखा जाए तो आम सहमति के आधार पर भारतीय परिस्थितियों में एक गठबंधन सरकार किसी मजबूत वाली सरकार की अपेक्षा बेहतर आॢथक परिणाम देती है।

वर्ष 1991 में भारत के भुगतान संकट का उल्लेख करते हुए रैड्डी ने कहा, ‘‘उस दौर की सबसे बड़ी उपलब्धि यह रही कि अस्थिर राजनीतिक हालातों के बावजूद उन्होंने, जो कदम उठाए जाने की जरूरत थी उनके लिए एक आम राजनीतिक सहमति बनाई और इसका सफलतापूर्वक प्रबंधन किया।’’

वह यहां अमरीका के प्रमुख थिंकटैंक हडसन इंस्टीच्यूट में बोल रहे थे। रैड्डी वर्ष 2003 से 2008 तक रिजर्व बैंक के गवर्नर रहे।

Top Stories