Saturday , December 16 2017

अलका लांबा ने APP का दामन थामा

एनएसयूआई की साबिक सदर अलका लांबा कांग्रेस को छोड़कर आम आदमी पार्टी में शामिल हो गई है पार्टी छोड़ते वक्त अलका ने कांग्रेस पर संगीन इल्ज़ाम लगाए उन्होंने कहा कि कांग्रेस आलाकमान मगरूर हो गया है राहुल गांधी मिलने का वक्त नहीं देते

एनएसयूआई की साबिक सदर अलका लांबा कांग्रेस को छोड़कर आम आदमी पार्टी में शामिल हो गई है पार्टी छोड़ते वक्त अलका ने कांग्रेस पर संगीन इल्ज़ाम लगाए उन्होंने कहा कि कांग्रेस आलाकमान मगरूर हो गया है राहुल गांधी मिलने का वक्त नहीं देते सारी जिम्मेदारी कारकुनों पर डाल दी जाती है कांग्रेस की कहने और करने में फर्ख है | अलका ने आप की ताईद पर कांग्रेस की मुखालिफत को नौटंकी करार दिया |

21 सितंबर 1975 को पैदा हुई अलका लांबा एनएसयूआई की कौमी सदर रह चुकी है वे दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की जनरल सेक्रेटरी ,एआईसीसी की सेक्रेटरी ,दिल्ली यूनिवर्सिटी में तालिब ए इल्म यूनियन (Students’ union) की सदर भी रह चुकी है |

अलका गो फाउंडेशन नाम से एक एनजीओ भी चलाती है उन्होंने अपनी सियासी करियर की शुरूआत 1994 में की थी,जब वे बीएससी सेकैण्ड ईयर की तालिबा थी उन्होंने उस वक्त एनएसयूआई ज्वाइन की थी |

अलका लांबा उस वक्त तनाज़ो में आ गई थी जब उन्होंने 2012 में गुवाहाटी में छेड़खानी की शिकार हुई लड़की का नाम जाहिर कर दिया था | 16 जुलाई 2012 को कौमी खातून कमीशन (राष्ट्रीय महिला आयोग) की जांच टीम गुवाहाटी गई थी इस टीम में अलका भी शामिल थी | अलका ने मुतास्सिरा से मुलाकात की थी उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस में मुतास्सिरा का नाम उजागर कर दिया इसकी वजह से उनकी काफी मुज़म्मत हुई थी इसके बाद अलका को राष्ट्रीय महिला आयोग की जांच टीम से अलग कर दिया गया था |

TOPPOPULARRECENT