Saturday , January 20 2018

अलगाववादी सिर्फ दूसरों के बच्चों को जिहादी बनने के लिए उकसाते हैं: जुनैद कुरैशी

जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के संस्थापकों में से एक हाशिम कुरैशी के बेटे जुनैद ने हिजबुल कमांडर बुरहान वानी की मौत के बाद कश्मीर घाटी में हुई हिंसा के बाद अलगाववादियों पर जमकर‌ निशाना साधा है। आपको बता दें कि जुनैद नीदरलैंड में रहते हैं और एक सक्रिय मानवाधिकार कार्यकर्ता हैं। जुनैद ने कहा कि कश्मीरी नौजवान अलगाववादियों से पूछें कि अगर जिहाद और कश्मीर की आजादी के लिए बंदूक उठाना जरूरी है तो फिर वे क्यों अपने बच्चों को बंदूक नहीं थमाते उनके अपने बच्चे मलेशिया, कनाडा और अमेरिका में हैं और कइयों के बच्चे दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरु में रहकर या तो पढ़ाई कर रहे या फिर नौकरी। वह सिर्फ दूसरों के बच्चों को ही उकसाते हैं। जब भी कश्मीर कोई नौजवान मरता है तो अलगाववादी उसे हीरो बताकर दुसरे युवाओं को भी उसी रस्ते पर चलने को कहते हैं। बुरहान की मौत के साथ उसके बाद भड़की हिंसा में मारे गए 12 लोगों की मौत भी दुखदायी है। जुनैद ने कहा कि मैं जानता हूँ कश्मीर के युवाओं में गुस्सा और बगवात है लेकिन उन्हें समझना पड़ेगा कि किसी भी समस्या का हल बन्दूक उठाना नहीं है। बुरहान मेरे भाई की उम्र का था और वह डॉक्टर, इंजीनियर, लेखक या कुछ भी बन सकता था। लेकिन हिंसा का रास्ता चुनने के बाद आखिर उसने अपनी मौत को गले लगाया।

TOPPOPULARRECENT