Tuesday , December 12 2017

अलाहिदगी जमात में तहरीके कश्मीर ख्वातीन शामिल

कश्मीर में अलाहिदगी जमात में पीर के रोज एक और नयी तंज़ीम तहरीक-ए-कश्मीर ख्वातीन या कश्मीर वोमेन मूवमेंट शामिल हो गया। तंज़ीम की सदर जमरुदा हबीबी हैं, जिन्होंने मुस्लिम ख्वातीन मरकज को बनाया था। तहरीके कश्मीर ख्वातीन ऑल पार्टी हुर्

कश्मीर में अलाहिदगी जमात में पीर के रोज एक और नयी तंज़ीम तहरीक-ए-कश्मीर ख्वातीन या कश्मीर वोमेन मूवमेंट शामिल हो गया। तंज़ीम की सदर जमरुदा हबीबी हैं, जिन्होंने मुस्लिम ख्वातीन मरकज को बनाया था। तहरीके कश्मीर ख्वातीन ऑल पार्टी हुर्रियत कांफ्रेंस के कट्टरपंथी गुट के चेयरमैन सैयद अली शाह गिलानी के साथ चलेगा।

गौरतलब है कि जमरुदा हबीब जनवरी 2003 में नई दिल्ली में हवाला के इल्ज़ाम में पकड़ी गई थी। वह कश्मीर में अलैहदगी व दहशतगर्दों के लिए हवाला राशि लेकर आ रही थी। उनकी गिरफ्तारी के बाद वादी में उनकी तंज़ीम मुस्लिम ख्वातीन मरकज की कमान उनकी साथी यासमीन रजा ने संभाल ली थी।

उन्होंने जमरुदा को तंज़ीम से पूरी तरह दरकिनार कर दिया था। जमरुदा हबीबी ने अपने पुराने कैडर व कश्मीर के मुखत्लिफ ग्रुपों के साथ अपने राबिता मुहिम को जारी रखा और नई तंज़ीम तैयार कर लिया।

यहां सहाफियों से बातचीत करते हुए जमरुदा हबीब ने कहा कि हमारी यह तंज़ीम दुनिया भर में कश्मीरी ख्वातीन पर हो रहे ज़ुल्म व सितम के मुताल्लिक बेदारी पैदा करेगी, कश्मीर को हिंदुस्तान से आजादी दिलाएगा, ख्वातीन के खिलाफ इंसानी हुकूक की खिलाफवर्जी को बंद कराने के लिए काम करेगा।

हमने अपनी तंज़ीम को अमलीजामा सैयद अली शाह गिलानी से बात चीत के बाद ही पहनाया है। हम लोग कश्मीर की आजादी के लिए दिदर आजादी पसंद जमातों की पूरी मदद करेंगे।

जमरुदा हबीब ने कहा हमने तंज़ीम की जनरल सेक्रेटरी लंदन वाकेय् शामीमा शॉल को नामज़द किया है। उन्होंने कहा कि कश्मीरी आवाम को हक-ए-खुद- इरादियत दिया जाए।

TOPPOPULARRECENT