Friday , December 15 2017

अलीगढ़ मुस्लिम यूनीवर्सिटी तलबाए‍ का एहितजाजी मुज़ाहरा

अलीगढ़: अलीगढ़ मुस्लिम यूनीवर्सिटी के तलबाॱएॱ ने जवाहर लाल नहरू यूनीवर्सिटी में पुलिस की बे-जा कार्य‌वाई के ख़िलाफ़ आज एहतेजाजी जुलूस निकाला उन्होंने जेएनयू में एक एहतेजाजी मुज़ाहरे के दौरान क़ौम दुश्मन नारे लगाने की मज़म्मत की। अलीगढ़ यूनीवर्सिटी के तलबाए जो कि हाथों में प्ले कार्ड्स थामे हुए थे पुलिस के ख़िलाफ़ ज़बरदस्त नारे बुलंद किए।

सदर जम्हुरिया को मौसूमा एक मैमोरंडम में मुल्क गीर सतह पर जमिआत में इंतिशार पैदा करने में आरएसएस से वाबस्ता तन्ज़ीमों के रोल की तहक़ीक़ात का मुतालिबा किया। सदर एऐमयू टीचर्स एसोसीएशन‌ प्रोफ़ैसर मुईद बेग ने कहा कि आज़माईश की घड़ी के वक़्त हम सब जेएनयू बिरादरी के साथ हैं।

जनरल सैक्रेटरी एऐमयू एम्पलाइज़ यूनीयन शमीम अख़तर ने कहा कि अगर हम जेएनयू एहतेजाज के दौरान क़ौम दुश्मन नारों की मज़म्मत करते हैं लेकिन सवाल ये है कि काबुल एतराज़ नारे बुलंद करने वालों की निशानदेही के लिए आया पुलिस ने संजीदगी से तहक़ीक़ात की है?। मज़कूरा एहतेजाजियों ने इल्ज़ाम आइद किया कि जेएन यूनीयन के ख़िलाफ़ ग़द्दारी का संगीन इल्ज़ाम आइद करने से ये ज़ाहिर होता है कि दिल्ली पुलिस, आरएसएस की तन्ज़ीमों के हाथों कठ-पुतली बन गई है|

TOPPOPULARRECENT