Thursday , November 23 2017
Home / India / अलीगढ़ में मामूली विवाद ने धार्मिक रंग लिया, एक हिंदू और दो मुसलमान मारे गए

अलीगढ़ में मामूली विवाद ने धार्मिक रंग लिया, एक हिंदू और दो मुसलमान मारे गए

A relative with a photograph of Bindu Khan courtesy -Indian express

अलीगढ़ : शहर के कौड़ियागंज इलाके में दिवाली के दिन हुई झड़प में दो व्यक्तियों पीट पीटकर  हत्या कर दी गयी  | इलाक़े में  शांति बनाये रखने के लिए वरिष्ठ पुलिस अधिकारी डेरा डाले हुए हैं और क्षेत्र में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है |

पुलिस ने बताया कि 55 वर्षीय बुन्दू खान और उनका 17 वर्षीय बेटा मोहब्बत अलीगढ़ के कौड़ियागंज इलाके में पार्किंग को लेकर हुए विवाद में मारे गए हैं | जबकि स्थानीय निवासियों के मुताबिक़ विवाद पटाखे फोड़ने को लेकर हुआ था  | त्यौहार के मौक़े पर शांति बनाये रखने के लिए पुलिस ने इस उपद्रव के दौरान हुई हत्या की घोषणा आधी रात के बाद की | सोमवार दोपहर को सख्त पुलिस सुरक्षा के बीच अंतिम संस्कार किया गया | हत्या और शांति भंग करने के आरोप में नौ लोगों के नाम दर्ज और कई अज्ञात लोगों के खिलाफ एफ़आईआर दर्ज की गयी है|
एसएसपी राजेश कुमार पांडेय ने बताया कहा कि इलाक़े के एक हिंदु बहुल बाज़ार में बुन्दू खान अपने बेटों मोहब्बत और नेहुरुद्दीन के साथ आया था | उन्होंने  दिनेश की दुकान के सामने कथित तौर पर अपनी बाइक खड़ी की थी | दिनेश ने बाइक खड़ी करने पर आपत्ति जताई जिसके बाद कथित तौर पर तीनों व्यक्तियों में से एक ने दिनेश को कथित तौर पर गोली मार दी | गोलीबारी की आवाज सुनकर स्थानीय दुकानदारों और निवासियों ने बांस और पत्थरों से पिटाई की | इस दौरान एक व्यक्ति भागने में कामयाब रहा जबकि बाकि दोनों की पिटाई से मौत हो गयी |

हालाँकि घटना के चश्मदीद गवाह नेहरुद्दीन (28) ने फायरिंग के आरोप से इनकार किया है और कहा कि उसे नहीं मालूम की भीड़ को किसने उकसाया| उसने बताया कि वह उसके पिता और भाई तीनों टाइल्स खरीदने के लिए बाजार गये थे | “मेरे पिता और मैं टाइल की दुकान पर रुके थे, जबकि मोहब्बत हमारी माँ को टाइल्स का एक नमूना दिखाने के लिए घर चला गया |  उसने बताया कि जब वह वापस आया उसकी नाक से खून बह रहा था मालूम करने पर उसने बताया दिनेश के भतीजे कपिल ने उसे पीटा था | हम इसकी वजह जानने के लिए  कपिल के घर गये लेकिन हमारी बात सुनने से पहले ही हमारे साथ मारपीट शुरू कर दी गयी | मैं भागने में कामयाब रहा लेकिन मेरे पिता और भाई नहीं भाग सके | हमें पता चला कि उन्हें दो घंटे तक बांस और पत्थरों से पीटा गया |  यहां तक कि पुलिस भी उन्हें बचाने के लिए इस इलाक़े में आने की हिम्मत नहीं कर सकी |

जबकि दिनेश की मां हरप्यारी देवी का कहना है कि विवाद पटाखे फोड़ने की वजह से हुआ था | उन्होंने कहा कि ये विवाद बढ़ने के बाद तीनों व्यक्तियों में से एक ने अपने साथ लाये हथियार से कपिल के गोली मारी थी | कपिल को बचाने के लिए आये दिनेश को ये गोली लग गयी | उन्होंने कहा कि वह नहीं जानती कि बुन्दू को किसने मारा| वह दिनेश के गोली लगने के बाद उसको अस्पताल लेकर चली गयीं थी |

कौड़ियागंज नगर पंचायत के अध्यक्ष इरफ़ान खान ने कहा कि दोनों परिवार के बीच ज़मीन के ऊपर कुछ विवाद चल रहा था लेकिन रविवार को हुई घटना बेहद चौंकाने वाली थी | बुन्दू और उनके बेटे को बांस और पत्थरों से बुरी तरह पीटा गया | खान ने कहा कि माहौल में तनाव है लेकिन हमारी कोशिश है कि शांति बनी रहे |

TOPPOPULARRECENT