Friday , January 19 2018

अली अशरफ फातमी ने राजद छोड़ा, लालू पर लगाया निशाना

राजद लीडर और साबिक़ मरकज़ी वज़ीर मो अली अशरफ फातमी ने राजद से इस्तीफा दे दिया है। दरभंगा पार्लियामानी सीट से बीते लोकसभा इंतिख़ाब में मिली करारी हार का ठीकरा उन्होंने लालू प्रसाद पर फोड़ा है। दरभंगा में उन्होंने कहा कि पार्टी पर राज

राजद लीडर और साबिक़ मरकज़ी वज़ीर मो अली अशरफ फातमी ने राजद से इस्तीफा दे दिया है। दरभंगा पार्लियामानी सीट से बीते लोकसभा इंतिख़ाब में मिली करारी हार का ठीकरा उन्होंने लालू प्रसाद पर फोड़ा है। दरभंगा में उन्होंने कहा कि पार्टी पर राजद सदर लालू प्रसाद की पकड़ खत्म हो गई है। राजद के खजाना सदर प्रेमचन्द गुप्ता लालू प्रसाद को गलत सलाह देते हैं। उनकी सलाह की वजह ही राजद डूब रही है।

राजद अकलियत सेल के क़ौमी सदर, पार्टी जेनरल सेक्रेटरी और इब्तेदाई रुक़्नियत से इस्तीफा देते हुए मो फातमी ने कहा कि कुछ चाटुकार लीडर तंजीम को बर्बाद करने में जुटे हुए हैं।

लालू ने कहा: राज्यसभा जाना चाहते हैं फातमी

सियासत में कीमत और एख्लाक़ियत खत्म होती जा रही है। जिनको आगे बढ़ाया, वे ही अलविदा कहते जा रहे हैं। फातमी राज्यसभा जाना चाहते हैं। झारखंड से प्रेम गुप्ता की जगह वो राज्यसभा चले जाते तो खुश रहते। लोकसभा इंतिख़ाब लडऩे के लिए फातमी ने प्रेम गुप्ता से 10 करोड़ रुपये मांगे थे। वो कहां से पैसा देते। इसलिए उनके खिलाफ बोल रहे हैं।

क्यों दिया इस्तीफा

लोकसभा इंतिख़ाब में यादव वोटों का पूरा साथ नहीं जुडऩे से उनकी हार हुई है। राज्यसभा में जाना चाहते हैं। मिथिलांचल में अगले एसेम्बली इंतिख़ाब में अक़लियत वोट उनके इशारे पर ही चले, इसकी इमकान में भी उन्होंने इस्तीफा दिया है।

क्या होगा असर

दरभंगा सीट से मो. फातमी चार बार एमपी चुने जा चुके हैं। मिथिलांचल में वे अक़लियत के बड़े चेहरे माने जाते हैं। गुजिशता दो इंतिख़ाब वे छोटे अंतर से हारे हैं। एसेम्बली इंतिख़ाब में मिथिलांचल में मुस्लिम वोट छिटकेगा, राजद के रिजल्ट पर असर पड़ेगा।

क्यों थे नाराज

लोजपा से इत्तिहाद टूटने के लिए वे पार्टी कियादत को मुल्ज़िम मानते थे। लालू प्रसाद पर प्रेमचन्द गुप्ता की पकड़ बढऩे से भी वे नाराज थे। वे कई बार इसकी शिकायत लालू प्रसाद से कर चुके थे। पर अपनी बात नहीं सुनने से वे लालू से नाराज चल रहे थे।

TOPPOPULARRECENT