Wednesday , July 18 2018

‘अलेप्पो’ भूतों का शहर, यहाँ जो कुछ हुआ वह युद्ध अपराध था: संयुक्त राष्ट्र

Children walk near a parked ambulance in al-Rai town, northern Aleppo province, Syria December 27, 2016. REUTERS/Khalil Ashawi

अलेप्पो: सीरिया के उत्तरी शहर अलेप्पो में खून की नदियां बहा देने के बाद शांति तो आई लेकिन शहर पूरी तरह तबाह व बर्बाद और सुनसान हो चुका है। आबादी से खाली और बर्बादी का सबसे तस्वीर देखकर लोगों के रोंगटे खड़े हो जाते हैं। संयुक्त राष्ट्र ने स्वीकार किया है कि अलेप्पो को छुड़ाने के लिए सीरियाई सरकार ने जो क़यामत ढाई है, वह युद्ध अपराध है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

अलअरबिया डॉट नेट के अनुसार संयुक्त राष्ट्र द्वारा अलेप्पो में युद्ध अपराधों की जांच के लिए गठित आयोग ने बुधवार को जारी अपनी रिपोर्ट में कहा है कि पिछले दिसंबर में पूर्वी अलेप्प्पो से लाखों नागरिकों और लड़ाकों को निकाल बाहर करना ‘युद्ध अपराध’ था।

रिपोर्ट में कहा गया है कि पूर्वी अलेप्पो से आबादी की निकासी वहां पर लड़ने वाले सरकार और विपक्ष के समूहों के बीच एक रणनीतिक आधार पर किया गया, जिसमें नागरिकों की सुरक्षा की कोई गारंटी नहीं दी गई। सैनिक जरूरत के मद्देनजर शहरियों के निकालने की अनुमति देने के बाद विशिष्ट समूहों ने जबरन नागरिकों को उनके घरों से निकाल दिया। ऐसा करना गंभीर अपराध था जिसे युद्ध अपराध ही कहा जा सकता है।

संयुक्त राष्ट्र अनुसंधानकर्ताओं ने अपनी ताजा रिपोर्ट में जुलाई 2016 से 22 दिसंबर 2016 के बीच पूर्वी अलेप्पो में दैनिक आधार पर सीरियाई और रूसी सेना की बमबारी की तफ्सीलात बयान की हैं।

रिपोर्ट के अनुसार बमबारी के दौरान लाखों नागरिकों को अपने घरों से निकालने के लिए अस्पतालों, स्कूलों और शहरी आबादी को बमबारी का निशाना बनाया गया था।

TOPPOPULARRECENT