अल्पसंख्यकों के लिए भारत स्वर्ग, 2014 के बाद देश में कोई बड़ा धार्मिक दंगा नहीं हुआ- नकवी

अल्पसंख्यकों के लिए भारत स्वर्ग, 2014 के बाद देश में कोई बड़ा धार्मिक दंगा नहीं हुआ- नकवी

सामुदायिक सौहार्द और सहनशीलता भारत में बहुसंख्यक समुदाय के डीएनए में शामिल है और देश में अल्पसंख्यक समुदाय के सामाजिक, धार्मिक व सांविधानिक अधिकार पूरी तरह सुरक्षित हैं। यह बात केंद्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने बुधवार को आए अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल से कही।

अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता मामलों के अमेरिकी राजदूत सैमुअल ब्राउनबैक के नेतृत्व में आए प्रतिनिधिमंडल के साथ नकवी ने करीब एक घंटा लंबी बैठक की। सूत्रों का कहना है कि इस दौरान नकवी ने उन्हें भारत सरकार की तरफ से अल्पसंख्यकों के सामाजिक, आर्थिक और शैक्षिक सशक्तीकरण के लिए चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी दी। सूत्रों के मुताबिक, प्रतिनिधिमंडल ने मोदी सरकार के अल्पसंख्यक कार्यक्रमों की सराहना की।

केंद्रीय मंत्री ने प्रतिनिधिमंडल से कहा कि अल्पसंख्यकों के लिए भारत एक स्वर्ग जैसा है, जबकि इसके उलट पाकिस्तान अल्पसंख्यकों के लिए नरक सरीखा साबित हो रहा है। उन्होंने कहा, धर्म, विश्वास, संस्कृति और भाषा में विभिन्नता के साथ भारत पूरे विश्व के लिए ‘अनेकता में एकता’ का सशक्त उदाहरण है। उन्होंने दावा किया कि 2014 में मोदी सरकार के पहली बार कार्यकाल शुरू करने के बाद से देश में कोई बड़ा धार्मिक दंगा नहीं हुआ है।

Top Stories