अल्लाह के दुआओं की बदौलत हम सासंद बन सके- सरफराज आलम

अल्लाह के दुआओं की बदौलत हम सासंद बन सके- सरफराज आलम
Click for full image

बुधवार को रानीगंज विस्टोरिया पंचायत के डुमरिया गांव में इस्लाहे मुआशरा व तहफ्फुजे शरीयत कांफ्रेंस के तहत एक भव्य समारोह का आयोजन किया गया। इसमें जेनरल सेकरेटी ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड, अमीरे शरीयत, इमारते शरीया बिहार, झारखंड, ओडिशा, हजरत मौलाना सैयद, मौलाना वली रहमानी ने अध्यक्षता की। वहीं देश के कई राज्यों से बड़े बडे़ उलेमा-ए-इकराम ने शिरकत किया।

कांफ्रेंस का का संचालन इतारते शरिया फुलवारी शरीफ पटना से आये मौलाना सोहराब आलम नदवी नायाब नाजिम ने किया। इस समारोह को संबोधित करते हुए मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सचिव मौलाना वरी रहमानी ने कहा कि शादी ब्याह में दहेज लेनदेन नहीं करनी चाहिए, किसी को महिला को तालाक नहीं देना चाहिए, दीन के खंभे को मजबूती से पकड़े रखें क्योंकि अल्लाह व उनके रसुल के बताये हुए रास्ते पर चलकर ही मुसलमान कामयाब हो सकते हैं, अगर दीन के रास्ते पर चलें तो कामयाबी हमारी कदम चुमेंगी।

वहीं ऑल इंडिया मुस्लिम इस्लाहुल मुस्लिमिन के महासती सदर अरबारूल ईमान ने कहा कि इलाके की सरकारी मदारिस की हालात अच्छी नहीं है, वहीं पर नवनिवार्चित सांसद सरफराज आलम ने कहा कि यहां के लोगों ने कौमी अकसियत को पसंद करते हैंलोगों के मुहब्बत और अल्लाह के दुआ के बदौलत ही एमपी बना हुं।

नायाब नाजिम इमारते सरिया शोहराब नदवी ने कहा कि सिर्फ सरकार पर अंगुली उढाने से काम नहीं चलेगा। हमें अपनी गिरेबान में झांक कर देखना होगा। वही इस भव्य कार्यक्रम में पचास हजार से अधिक लौगों की भीड जुटी। सुरक्षा व्यवस्था को लेकर रानीगंज पुलिस मुस्तेद दिखी।

Top Stories