Sunday , November 19 2017
Home / Islam / अल्लाह ने मुझे सिखाया सब धर्मों का पालन, तो रोजे भी रखूंगी और व्रत भी करूंगी: मेहनाज फातिमा

अल्लाह ने मुझे सिखाया सब धर्मों का पालन, तो रोजे भी रखूंगी और व्रत भी करूंगी: मेहनाज फातिमा

लखनऊ:  इंसान को हर धर्म का पालन और उसकी इज्जत करनी चाहिए फिर चाहे वो हिंदू हो या मुस्लिम यह कहना है लखनऊ के ठाकुरगंज की रहने वाली महनाज फातिमा का। फातिमा कहती है कि इस्लाम ने उनको सिखाया है कि सभी धर्मों का आदर करना चाहिए इससे इंसानियत और अल्लाह की नजर उनपर बनी रहती है।  रमजान के दिनों में वह रोजा भी रखती हैं और नवरात्रि-  बड़े मंगल पर व्रत भी रखती हैं।  महनाज के पिता अब इस दुनिया में नहीं हैं। वह अपनी मां और बड़े भाई के साथ रहती हैं और  गवर्नमेंट सर्विस की तैयारी के साथ बच्चों को ट्यूशन भी पढ़ाती हैं।
महनाज बताती है कि पिछले 10 साल से मंदिरों में श्रद्धालुओं की सेवा करती आ रही हैं। उनका मानना है कि उन्हें हनुमान जी की सेवा करने से कोई नहीं रोक सकता।  महनाज बताती हैं, स्कूल से लौटते समय वो अक्‍सर मंदिर जाकर मत्था टेकती थीं और तिलक लगाकर घर आती थीं।  माथे पर टीका देख कई बार घरवाले हैरत में पड़ जाते थे और सवाल करते थे कि तुम मंदिर क्यों गईं, तुम तो मुस्लिम हो। लेकिन उनकी आस्था के आगे उनका परिवार भी झुक गया और अब उनसे कोई कुछ नहीं कहता।  इस साल जून महीने में रमजान शुरू हो गए। वहीं, बड़े मंगल की भी शुरुआत हुई। एक बार तो बड़ा मंगल और रोज़ा एक ही दिन पड़ गया।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

TOPPOPULARRECENT