Sunday , May 20 2018

अल-क़ायदा शिकस्त के दहाने पर , जंग क़रीब‍ उल‍ ख़त्म

अमेरीका के सदर बारक ओबामा ने जंग ज़दा मुल़्क अफ़्ग़ानिस्तान का आज अचानक खु़फ़ीया दौरा किया और उन्होंने ऐलान किया कि इस मुल्क में अमेरीका बहुत जल्द अपना काम तमाम कर लेगा और वो अल क़ायदा को शिकस्त देने के मक़सद के बहुत करीब पहुंच चुका ह

अमेरीका के सदर बारक ओबामा ने जंग ज़दा मुल़्क अफ़्ग़ानिस्तान का आज अचानक खु़फ़ीया दौरा किया और उन्होंने ऐलान किया कि इस मुल्क में अमेरीका बहुत जल्द अपना काम तमाम कर लेगा और वो अल क़ायदा को शिकस्त देने के मक़सद के बहुत करीब पहुंच चुका है और अलक़ायदा को दुबारा मुस्तहकम होने का कोई मौक़ा नहीं दिया जाएगा ।

बारक ओबामा इंतिहाई राज़दारी के साथ तारीकी की ढाल में अफ़्ग़ानिस्तान पहुंचे, उन्होंने कहा कि इस मुल्क में जंग की लहर पहले ही तब्दील हो चुकी है। उन्होंने अह्द किया कि अमेरीका इस मुल्क को जंग ज़दा हालत में नहीं छोड़ेगा । उन्हों ने इस मुल्क में अमेरीका के तवील रोल के लिए हिक्मत-ए-अमली के एक समझौता पर दस्तख़त भी की।

ओसामा बिन लादेन की पहली बरसी के मौक़ा पर बिगराम फ़िज़ाई अड्डा पर एक इजतिमा से ख़िताब जिसका अमेरीका तक लाईव टेली कास्ट किया गया। सदर ओबामा ने कहा कि हम तकरीबन एक दहाई तक जंग के इंतिहाई तारीख् बादल से गुज़रे हें और अब अफ़्ग़ानिस्तान के उफ़ुक़ पर तलूअ से क़ब्ल की तारीकी नज़र आ रही है और हम अफ़्ग़ान उफ़ुक़ पर एक नई सुबह की रोशनी देख रहे हैं।

ताहम ओबामा की वापसी के फ़ौरी बाद दार-उल-हकूमत काबुल में सिलसिला वार धमाकों और फायरिंग के तबादला के वाक़्यात ने अफ़्ग़ानिस्तान में सलामती की मख़दूश सूरत-ए-हाल की तल्ख़ हक़ीक़त को वाज़िह कर दिया। इन धमाकों में 6 अफ़राद हलाक हुए हैं और तालिबान ने इस की ज़िम्मेदारी कुबूल कर ली है ।

क़ब्ल अज़ीं काबुल और वाशिंगटन के दरमियान हिक्मत-ए-अमली की साझेदारी के जदीद समझौता पर अमेरीकी सदर बारक ओबामा और अफ़्ग़ान सदर हामिद करज़ई ने दस्तख़त की जिस के तहत 2014 में अमेरीका के ज़ेर क़ियादत नाटो के लड़ाका फ़ोर्सेस की क़तई वापसी के बाद भी अमेरीकी फ़ोर्सस को अफ़्ग़ानिस्तान में दहश्तगर्दी के ख़िलाफ़ जंगी कार्यवाई में हिस्सा लेने और अफ़्ग़ान फ़ौज को तरबियत देने की गुंजाइश फ़राहम करेगा।

मिस्टर ओबामा ने जंग से बेज़ार हो चुके अमेरीकी सिपाहियों को दिलासा देते हुए कहा कि अफ़्ग़ानिस्तान में जंग शुरू हुई और अब ख़तम हो जाएगी। एक दूसरे पर भरोसा के साथ हम अपनी निगाहें मुस्तक़बिल पर मर्कूज़ किए हुए हैं। फ़िलहाल जो काम ज़ेर ए तकमील है, उन्हें मुकम्मल करना होगा और पाएदार अमन क़ायम करना होगा।

उन्होंने कहा कि जिस तरह इराक़ में अमेरीकी जंगी मुहिम ख़त्म हो चुकी है इस तरह अफ़्ग़ानिस्तान में भी ये मरहला तय हो जाएगा । ओबामा ने कहा कि गुज़शता तीन साल के दौरान जंग की लहर तब्दील हुई है, हम ने तालिबान की तहरीक को तोड़ दिया है।

हम ने एक मज़बूत अफ़्ग़ान सिक्योरिटी फ़ोर्स तैयार की है, हम ने अलक़ायदा की क़ियादत को बुरी तरह तबाह किया है , इस के 30 के मिनजुमला 20 क़ाइदीन का सफ़ाया किया जा चुका है और गुज़श्ता साल भी हम ने अफ़्ग़ानिस्तान में मौजूद अपने फ़ौजी अड्डा से एक मुहिम शुरू की थी और हमारे सिपाहियों ने इस मुहिम के ज़रीया ओसामा बिन लादेन को हलाक किया था ।

ओबामा ने मज़ीद कहा कि मैंने एक मक़सद बनाया था जो अलक़ायदा की शिकस्त है। ये काम तकरीबन पूरा हो चुका है। इस तंज़ीम को दुबारा मुस्तहकम होने का कोई मौक़ा भी नहीं दिया जाना चाहीए और ये बात अब हमारी दस्तरस में पहुंच चुकी है।

ओबामा का बहैसियत सदर अमेरीका ये तीसरा दौरा अफ़्ग़ानिस्तान था। बिन लादेन की बरसी के मौक़ा पर पाकिस्तान में सख़्त चौकसी और हिफ़ाज़ती इंतेज़ामात किए गए थे।

TOPPOPULARRECENT