Monday , December 18 2017

अवाम की मर्ज़ी को दुबारा नजरअंदाज़ ना किया जाये: नवाज़ शरीफ़

वज़ीर-ए-आज़म पाकिस्तान नवाज़ शरीफ़ ने कहा कि पाकिस्तानी अवाम की मर्ज़ी को दुबारा कभी नज़र अंदाज नहीं किया जाएगा। मुस्तक़बिल में जमहूरी मुल्क अवाम की उमनगों और आरज़ूओं को दुबारा नज़र अंदाज नहीं करेगा।

वज़ीर-ए-आज़म पाकिस्तान नवाज़ शरीफ़ ने कहा कि पाकिस्तानी अवाम की मर्ज़ी को दुबारा कभी नज़र अंदाज नहीं किया जाएगा। मुस्तक़बिल में जमहूरी मुल्क अवाम की उमनगों और आरज़ूओं को दुबारा नज़र अंदाज नहीं करेगा।

वो फ़ौजी बग़ावत का हवाला दे रहे थे जिस के नतीजा में 14 साल क़बल उन की हुकूमत को इक़तिदार से बेदख़ल करदिया गया था। 12 अक्टूबर 1999-को उस वक़्त के सरबराह फ़ौज जनरल परवेज़ मुशर्रफ़ ने जमहूरी तरीका से मुंतख़ब नवाज़ शरीफ़ की हुकूमत को ख़ून का एक क़तरा बहाए बगैर फ़ौजी बग़ावत में इक़तिदार से बेदख़ल करदिया था।

जनरल परवेज़ मुशर्रफ़ ने 1999 -की फ़ौजी बग़ावत के बाद इक़तिदार सँभाल लिया था और सदर की हैसियत से उस वक़्त तक ओहदा पर बरक़रार रहे, जब तक कि उन्हें 2008 में सरज़निश की धमकी दी गई थी।

TOPPOPULARRECENT