Monday , December 11 2017

अवाम को शह नशीन पर होना चाहीए: प्रियंका गांधी

अमेठी, ०४ फ़रवरी (पी टी आई) उत्तर प्रदेश में इंतेख़ाबी मुहिम हर गुज़रने वाले दिन के साथ उरूज पर पहुंचती जा रही है और अब स्टार मुहिम बाज़ प्रियंका गांधी ने भी मुहिम में हिस्सा लेना शुरू कर दिया है।

अमेठी, ०४ फ़रवरी (पी टी आई) उत्तर प्रदेश में इंतेख़ाबी मुहिम हर गुज़रने वाले दिन के साथ उरूज पर पहुंचती जा रही है और अब स्टार मुहिम बाज़ प्रियंका गांधी ने भी मुहिम में हिस्सा लेना शुरू कर दिया है।

उन्होंने एक इंतेख़ाबी जलसा से ख़िताब करते हुए वोटर्स से कहा कि वो अपने वोटों की ताक़त को पहचानें क्योंकि ये उन के वोटों की ताक़त ही है जो मुल्क को भी ताक़तवर बनाती है, लेकिन राय दही से क़बल सोच समझ कर अपने वोट का इस्तेमाल करें ताकि रियासत में तबदीली लाई जा सके।

गुज़शता 22 बरसों में रियासत में मज़हब और ज़ात पात की बुनियाद पर सियासत की जा रही है। वो अपने भाई राहुल गांधी के हलक़ा इंतेख़बात बलभदरापुर में एक इंतेख़ाबी जलसा से ख़िताब कर रही थीं। उन्होंने कहा कि इंतेख़ाबात एक ऐसा मौक़ा या मरहला होता है जहां हर क़ाइद अलग अलग तरीक़ा से अपने वोटर्स से राबिता क़ायम करते हुए उसे मुंतखिब किए जाने की दरख़ास्त करता है।

आज मैं भी आप के दरमयान इस लिए आई हूँ लेकिन सवाल ये पैदा होता है कि किसी भी क़ाइद की हक़ीक़ी सलाहीयतों और अवाम के तईं उस की दयानतदाराना ख़िदमात को कौन पहचानता है? सिर्फ आप! और यही मौक़ा है जब आप अपने वोटों का इस्तेमाल सही ढंग से करते हुए नाअहल बेईमान और वायदा ख़िलाफ़ी करने वाले क़ाइद को इक़तेदार से बेदख़ल कर सकते हैं और इस की जगह पर किसी क़ाबिल, ईमानदार और वाअदा वफ़ा करने वाले क़ाइद का इंतेख़ाब कर सकते हैं।

आज हालात इतने बिगड़ चुके हैं कि अवाम अपने ही इलाक़ों में अपने हुक़ूक़ से महरूम रहते हैं।

सियासत ने एक इंतिहाई ग़लत मोड़ ले लिया है और कभी कभी आप के वोटों के मुनक़सिम हो जाने से नाअहल क़ाइदीन को बिलवास्ता तौर पर फ़ायदा पहुंचता है और वो इक़तेदार की मस्नद तक पहुंच जाता है। उन्होंने मुस्कुराते हुए कहा कि क़ाइदीन को शह नशीन पर नहीं बल्कि अवाम को शहि नशीन पर होना चाहीए।

गुज़शता 22 सालों में रियासत यूपी में मज़हब और ज़ात पात की बुनियाद पर की जाने वाली सियासत से रियासत की तरक़्क़ी सुस्त रफ़्तार हो गई है।

TOPPOPULARRECENT