Tuesday , December 19 2017

अवाम पर दरवाज़ा बन्द ना करने ओहदेदारों को मलिक अबदुल्लाह की हिदायत

सऊदी अरब के मलिक अबदुल्लाह ने ममलकत के ओहदेदारों को हिदायत दी कि अपने दफ़ातिर के दरवाज़ा अवाम ( जनता) की ख़िदमत के लिए खुले रखें । उन्होंने कहा कि ये इस्लामी उसूलों के मुताबिक़ है । उन्होंने कहा कि ग़र्ज़ मंदों को अपने दफ़्तर पर मुंतज़िर

सऊदी अरब के मलिक अबदुल्लाह ने ममलकत के ओहदेदारों को हिदायत दी कि अपने दफ़ातिर के दरवाज़ा अवाम ( जनता) की ख़िदमत के लिए खुले रखें । उन्होंने कहा कि ये इस्लामी उसूलों के मुताबिक़ है । उन्होंने कहा कि ग़र्ज़ मंदों को अपने दफ़्तर पर मुंतज़िर ना रखें ।

वो यूनीवर्सिटी स्टेज़ प्रोजेक्ट की इफ़्तेताही तक़रीब से ख़िताब कर रहे थे जिसकी लागत 85 अरब सऊदी रियाल है । उन्होंने कहा कि अपने दरवाज़ा अवाम के लिए खुले रखो क्योंकि आप और मैं मुल्क और अवाम ( जनता) के ख़ादिम हैं ।

इसके इलावा हम अपने मज़हब के ख़ादिम भी हैं जो एक शानदार अक़ीदा और अख़लाक़ीयात रखता है । सरकारी ख़बररसां इदारा एस पी ए के एक ओहदेदार ने कहा कि मलिक अबदुल्लाह ने काबीनी वुज़रा और सरकारी ओहदेदारों से कहा कि दुनिया की ग़ालिब तेल की ताक़त होने की हैसियत से अवाम और मुल्क के बारे में हम पर ज़बरदस्त ज़िम्मेदारी है ।

उन्होंने कहा कि हमें अपने मज़हब और अवाम की ख़िदमत करना है , इसलिए में आप तमाम से जो मेरे भाई हैं कहता हूँ कि मज़हब मुल्क और अवाम के लिए अपने फ़राइज़ अदा करें । ये एक मुक़द्दस ज़िम्मेदारी है जो हम तमाम की गरदनों पर रखी गई हैं । मैं दुआ करता हूँ कि हम तमाम इस ज़िम्मेदारी को कामयाबी से निभा सकें ।

TOPPOPULARRECENT