Sunday , December 17 2017

अश्लील खत के मामले में प्रोफेसर को पुलिस हिरासत में भेजा गया

मुकामी अदालत ने गुजरात युनिवर्सिटी के एक प्रोफेसर को जिंसी हमले के मामले में एक दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया . प्रोफेसर पर अपनी तीन साथी ख्वतीन को मुबय्यना तौर पर अश्लील खत लिखने के इल्ज़ाम हैं |

मुकामी अदालत ने गुजरात युनिवर्सिटी के एक प्रोफेसर को जिंसी हमले के मामले में एक दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया . प्रोफेसर पर अपनी तीन साथी ख्वतीन को मुबय्यना तौर पर अश्लील खत लिखने के इल्ज़ाम हैं |

गुजरात युनिवर्सिटी के Department of Political Science के चीफ सरमन जाला (56) को तीन साथी ख्वातीन का जिंसी इस्तेहसाल करने के बाद कल गिरफ्तार किया गया | जाला ने उन्हें मुबय्यना तौर पर खत लिखे थे |

मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट बी. एल. चोईठानी ने जाला को एक दिन की पुलिस हिरासत में भेजा जबकि जांच एजेंसी ने तीन दिनों की पुलिस रिमांड मांगी थी |

रियासत गुजरातपुलिस ने अदालत के सामने कहा कि यह पता लगाने के लिए मुल्ज़िम की तीन दिनों की पुलिस रिमांड चाहिए कि क्या उन्होंने खातून प्रोफेसर को अश्लील खत लिखे और किन हालात में ऐसे खत लिखे गए |

जांच एजेंसी ने अपने रिमांड की दरखास्त में कहा कि मुल्ज़िम प्रोफेसर के अपने हाथो से लिखे नमूने को उनके मुबय्यना तौर पर लिखे अश्लील खत से मिलाने करने की जरूरत होगी |

रिमांड के दरखात की मुखालिफत करते हुए बचाव पार्टी के वकील अमित नायर ने अदालत से कहा कि दावे को सही ठहराने के लिए कोई बुनियाद नहीं बताया गया है कि जाला ने ही खत |

TOPPOPULARRECENT